अनिवार्य प्रश्न
IMA notice to Baba Ramdev, give 1000 crore or ask for forgiveness

बाबा रामदेव को आईएमए की नोटिस, दें 1000 करोड़ या मांगे माफी

 


अनिवार्य प्रश्न। कार्यालय संवाद


बाबा रामदेव और अंग्रेजी चिकित्सा प्रणाली से जुड़ी संस्था आईएमए के बीच घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। बाबा रामदेव को एलोपैथिक चिकित्सकों की छवि को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाते हुए आईएमए उत्तराखंड ने एक बड़ी मानहानि राशि की कानूनी नोटिस भेजा है। आईएमए उत्तराखझड शाखा के सचिव ने लीगल एडवाइजर नीरज पांडे के माध्यम से बाबा रामदेव को 1000 करोड़ रुपए की मानहानि का नोटिस भेजा है। भेजे मानहानि नोटिस में योग गुरु बाबा रामदेव को 15 दिन में उनके बयान का खंडन करने की वीडियो शेयर करने और लिखित माफी मांगने की चेतावनी भी दी है।

पिछले दिनों अपने एक बयान पर पठतावा जाहिर करते हुए योगगुरु ने आईएमए पर 25 सवालों की गोली दाग दी थी। उल्लेखनीय है कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री के भेजे गए एक अपील पत्र के बाद योग गुरु बाबा रामदेव ने सार्वजनिक माफी तो मांगी थी लेकिन इसके साथ ही उन्होंने एलोपैथिक चिकित्सा प्रणाली के चिकित्सकों के सामने 25 सवाल भी खड़ा कर दिया था।

उत्तराखंड के डा. अजय खन्ना ने अपने वकील के द्वारा बाबा रामदेव पर मानहानि का दावा ठोका है। उनका कहना है कि बाबा रामदेव का जो दो वीडियो वायरल हो गया है उन दोनों वीडियो में उनके वक्तव्य से एलोपैथिक चिकित्सा से जुड़े हजारों डॉक्टरों की छवि खराब हुई है। डॉक्टरों ने मांग किया है कि वह मानहानि की क्षतिपूर्ति दें अन्यथा एक पक्ष में माफी मांग कर वीडियो क्लिप अपलोड करें अथवा लिखित माफी मांग पत्र आईएमए को दें।

उत्तराखंड शाखा के सचिव का कहना है कि स्वामी रामदेव ने अपना कोरोनील बेचने के लिए इतना बखेड़ा खड़ा किए हैं। उनका आरोप है कि बाबा रामदेव के ऐसे बयानों व ऐसे कार्यों से एलोपैथिक से जुड़े लाखों चिकित्सकों का अपमान हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि इसके लिए बाबा रामदेव अंग्रेजी चिकित्सा के डाक्टर्स से माफी मांगे। डॉ खन्ना के अधिवक्ता ने सीआरपीसी की धारा 499 और धारा 500 के प्रावधानों के तहत 1000 करोड़ रुपए का दावा ठोका है। उत्तराखंड में दो हजार से अधिक डॉक्टर कार्यरत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *