Cow slaughter continues, Yogi government's efforts fail

गोकशी बदस्तूर जारी, योगी सरकार का प्रयास फेल


अनिवार्य प्रश्न। संवाद।


उत्तर प्रदेश में गोकशी पर कानून सख्त होने के बाद भी गोकशी करने वालों के हौसले बुलंद, सुस्त पड़े है सभी जिलाधिकारी


आजमगढ़। प्रदेश में गोकशी पर अब पहले से कानून सख्त कर दिया गया है। इसके तहत गोकशी के दोषी को करीब 10 साल की जेल की सजा देने का प्राविधान भी सरकार के प्रयास से किया जा चुका है। फिर भी गोकशी करने वाले कर रहे हैं।

गत समय ताजा मामला आजमगढ़ जिला के मुबारकपुर थाने का है। जहां महलिया गांव के निवासी बृजेश पांडे के द्वारा गोकशी करने जा रहे बदमाशों को मना करने पर बदमाशों ने बृजेश पांडे पर ही हमला बोल दिया। पर उपस्थित हो रहे ग्रामीणों को देखकर गोकशी करने वाले गोवंश को वहीं मौके पर छोड़कर भाग खड़े हुए। घटना के कुछ देर बाद गोकशी करने वालों ने अपने कुछ साथियों की मदद से दोबारा हथियारों के साथ विरोध पर उतारु बृजेश पांडे व अवनीश यादव पर हमला बोल दिया।

सूत्रों के अनुसार बृजेश पांडे व अवनीश यादव द्वारा हल्ला करने पर गांव के काफी लोग जुट गए ऐसे में भीड़ पहुंचने पर गोकशी के प्रयास मे लगे बदमाशों के समूह में शामिल करीब 10 लोग भागने लगे। लेकिन उनका एक साथी मौके से ग्रामिणों के हाथ आ गया। एक गाड़ी भी साथ में पकड़ा गई। जिसका नम्बर UP 65 /AS/ 2400 था।

घटना में ग्रामीणों ने गोवंश चोरी कर रहे एक युवक को दबोच लिया। जबकि उसके कई साथी मौके से फरार हो गए। पकड़े गए युवक को ग्रामीणों ने स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया गया है। लोगों की तहरीर पर थाना मुबारकपुर की पुलिस ने उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
ग्रामीणों की मांग है कि गोवंश चोरी करने वालों व उसकी हत्या करने वालों के ऊपर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए और जो भी लोग धारदार हथियार, बंदूक, हांकी आदि शस्त्र लेकर गांव में चढ़ आये थे उनके ऊपर कार्यवाई होनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.