अनिवार्य प्रश्न
Foundation stone laid for Azamgarh University to be built on 49.42 acres at a cost of Rs 108 crores, inauguration of Sasand Khel Mahakumbh in Basti

आज़मगढ़ में 108 करोड़ रूपए की लागत से 49.42 एकड़ पर बनने वाले आज़मगढ़ विश्वविद्यालय की रखी गई आधारशिला, बस्ती में सासंद खेल महाकुंभ का उद्घाटन


अनिवार्य प्रश्न। ब्यूरो संवाद।


आजमगढ़। केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने आज उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ और बस्ती में कई विकास परियोजनाओं की शुरूआत की। श्री शाह ने आज़मगढ़ में 108 करोड़ रूपए की लागत से 49.42 एकड़ पर बनने वाले आज़मगढ़ विश्वविद्यालय की आधारशिला भी रखी। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केन्द्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।
केन्द्रीय गृह मंत्री ने आज़मगढ़ में इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा ये परिवर्तन की शुरूआत है, जिस आज़मगढ़ को जुर्म और आतंक की पनाहगाह के रूप में जाना जाता था वहां आज मां सरस्वती का धाम, एक विश्वविद्यालय बनाने का काम हो रहा है, जिससे युवा शिक्षित होकर देश के विकास में योगदान देंगे, जो एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

श्री शाह ने कहा कि इसी उत्तर प्रदेश की भूमि से विदेशी आक्रांताओं को खदेड़ने का काम महाराज सुहेलदेव जी ने किया था और अगर इस विश्वविद्यालय का नाम सुहेलदेव जी के नाम पर रखते हैं तो ये लोगों के लिए बहुत बड़ा संदेश होगा। हमने कहा था कि हम यहां दस नए विश्वविद्यालय बनाएंगे और आज ये काम पूरा हो गया है, सहारनपुर, अलीगढ़, आज़मगढ़ (2), लखनऊ, प्रयागराज, मेरठ, गोरखपुर, एफ़एसएल यूनिवर्सिटी और पुलिस एंड फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी। पिछले 70 साल में सिर्फ़ दस मेडिकल कॉलेज बने थे और आज 40 मेडिकल कॉलेज बनाने का वादा भी हमने पूरा कर दिया है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने पूर्वांचल को मच्छर और माफ़िया दोनों से मुक्त कर दिया है। यहां सफ़ाई ना होने के कारण गोरखपुर और पूरे पूर्वांचल में दिमाग़ी बुखार से बच्चों की मौत होती थी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश ने मोदी जी को दो बार पूर्ण बहुमत वाला प्रधानमंत्री बनाया और और उन्होंने देशभर के साठ करोड़ गरीबों के कल्याण का कार्यक्रम हाथ में लिया।

इसके साथ ही श्री शाह ने एक अन्य कार्यक्रम में आज उत्तर प्रदेश के बस्ती में सासंद खेल महाकुंभ का उद्घाटन किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में अमित शाह ने कहा कि आज पूरे उत्तर प्रदेश में कई बड़े परिवर्तन एक साथ देखने को मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर तो यहां करोड़ों रूपए की विकास परियोजनाओं की शुरूआत हो रही है तो दूसरी ओर बस्ती के युवाओं को जोड़ने वाले खेल महाकुंभ की शुरूआत हुई है। श्री शाह ने कहा कि एक सांसद जब लगन से जनप्रतिनिधि बनता है, जनता की समस्याओं को अपना बनाता है, ग़रीबों, महिलाओं, दलितों, पिछड़ों के विकास को अपना लक्ष्य बनाता है, तभी इस प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन संभव होता है। उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री ने पूरे पूर्वांचल से माफ़िया का सफ़ाया कर दिया है और उत्तर प्रदेश में विकास आगे बढ़ा है। जिस प्रदेश में, जिस देश में कानून और व्यवस्था ठीक ना हो वहां विकास कभी नहीं हो सकता। आज उत्तर प्रदेश में खेती, शिक्षा, उद्योग सहित हर क्षेत्र में चहुंमुखी विकास हो रहा है। श्री शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 46 लाख किसानों का 36 हज़ार करोड़ का ऋण माफ़ किया गया है और प्रधानमंत्री किसान निधि योजना में 2 करोड़ 53 लाख 98 हज़ार किसानों को 37 हज़ार करोड़ रूपए सीधे उनके बैंक खातों में भेजे गए। 45 कृषि मंडियों को करमुक्त किया है और 27 मंडियों को कम्प्यूटर से जोड़ा गया है। एक ज़माने में पुलिसकर्मी बाहुबलियों से डरते थे, लेकिन आज पुलिस को देखकर बाहुबली डरते हैं। ये जो परिवर्तन आया है, आए दिन दंगे, कर्फ़्यू होते थे, ये परिवर्तन हमारी सरकार के कारण आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *