Anivarya Prashna Web Bainer New 2020
Demand for toilets for women and transgenders in the court and all tehsil court premises

कचहरी एवं सभी तहसील न्यायालय परिसर में महिला और ट्रांसजेंडर्स के लिए शौचालय की उठी मांग


अनिवार्य प्रश्न। ब्यूरो संवाद।


चन्दौली। नगर के एक संगठन ‘दखल’ द्वारा कचहरी एवं सभी तहसील न्यायालय परिसर में महिला और ट्रांसजेंडर्स की असुविधा को देखते हुए शौचालय की मांग उठाई गयी। शौचालय सहित इनके लिए अलग सिटिंग बेंच, कॉमन रूम और काउंसलिंग रूम आदि के लिए डीएम को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया।

चंदौली के तहसील परिसर में आज युवतियों के समूह परिसर में महिला वकीलों, वादकारियों के बीच लैंगिक मुद्दों पर बेहद जरुरी बिन्दुओं पर ध्यान दिलाते हुए पर्चे का वितरण और हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया, साथ ही ट्रांसजेंडर नागरिकों और महिलाओं के लिए अलग सिटिंग बेंच, कॉमन रूम और काउंसलिंग रूम आदि के लिए डीएम चंदौली को ज्ञापन पत्र सौंपा गया।

दख़ल समूह की ओर से प्रतिनिधिमंडल की सदस्य डॉ इंदु पाण्डेय ने कहा कि जनपद में सार्वजनिक स्थानों पर प्रायः पाया गया है कि महिलाओं और ट्रांसजेंडर नागरिकों के लिए शौचालय, यूरिनल और प्रसाधन कक्ष की व्यवस्था समुचित नही है।

चन्दौली कचहरी एवं तहसील परिसर जहां रोज़ाना आने जाने वालों की संख्या हजारों में है। इतनी बड़ी संख्या में महिलाओं के आगमन के बावजूद यहां सार्वजनिक महिला शौचालय कहीं दीखता नहीं है। विभिन्न न्यायालयों, विभागों और अधिवक्ताओं की चौकी आदि पर महिला अधिवक्ता, कर्मचारी हों अथवा वादकारी उन्हें अक्सर असहज स्थिति का सामना करना पड़ता है।

एक अन्य सामाजिक कार्यकर्त्री रोली सिंह रघुवंशी ने बताया कि हमने देश की आधी आबादी की समस्याओं से सरोकार रखने वाले संगठन ‘दख़ल’ की तरफ से जिलाधिकारी महोदय से निवेदन किया है कि हमारे पर्चे में उठायी गई मांगों पर गंभीरता से विचार करें और ट्रांसजेंडर नागरिकों और महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए जरुरी इंतजाम करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.