अनिवार्य प्रश्न
PwD to get financial benefits under Marriage Marriage Incentive Scheme

दिव्यांगजनों को मिलेगा शादी विवाह प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत आर्थिक लाभ


अनिवार्य प्रश्न। ब्यरो संवाद

चन्दौली। 2020-21 एवं 2021-22 में विवाह कर चुके दिव्यांग व दिव्यांग दंपतियों को ‘शादी विवाह प्रोत्साहन योजना’ के अंतर्गत आर्थिक लाभ दिए जाने का विशेष अभियान सरकार ने शुरु किया है। यह दिव्यांग जनों के सरजतम जीवन बसर करने के लिए उपयोगी योजना है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शादी विवाह प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 व 2020-21 में हुई शादियों के लिए शादी विवाह प्रोत्साहन योजना की घोषणा की गई है। जिसका आवेदन ऑनलाइन किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि उक्त योजना के अंतर्गत लाभ पाने के लिए 8 से 45 वर्ष के दिव्यांग एवं दिव्यांग दंपति आवेदन कर सकते हैं। मगर विवाह के समय दिव्यांग युवक की आयु 30 वर्ष और दिव्यांग वधू की आयु 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। उनको मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र धारक होने के साथ ही आयकर दाता नहीं होना चाहिए।

इस योजना के अंतर्गत वर के दिव्यांग होने पर प्रोत्साहन राशि 15000 रुपये व वधु के दिव्यांग होने पर 20000 रुपये की राशि दी जानी है। इसके अलावा वर एवं वधू दोनों के दिव्यांग होने की स्थिति में दंपत्ति को कुल 35000 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। बर-बहू दोनों के दिव्यांग होने पर धनराशि को संयुक्त बैंक खाते में दिए जाने का प्रावधान है।

चंदौली जिले के दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी राज बहादुर सिंह ने प्रेस को बताया है कि आवेदन पत्र के साथ पति पत्नी का आधार कार्ड, दोनों का संयुक्त फोटोग्राफ, आय प्रमाण पत्र, संयुक्त बैंक खाता की संख्या, विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र, दिव्यांग प्रमाण पत्र के साथ मोबाइल नंबर एवं ऑनलाइन जमा किये गये आवेदन पत्र की छायाप्रति जमा करना आवश्यक है। विभाग ने ऑनलाइन लिंक www.divyangjan.upsdc.gov.in जारी करते हुए लोगों से आवेदन करने के लिए प्रस्ताव को विज्ञापित किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *