अनिवार्य प्रश्न

सूक्ष्म लघु एंव मद्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा चैंपियन्स पोर्टल लांच

 


अनिवार्य प्रश्न । संवाद


पोर्टल एक प्रौद्योगिकी आधारित प्रबंधन सूचना प्रणाली है

आधुनिक आईसीटी टूल सक्षम कंट्रोल रूम का नेटवर्क हब एंड स्पोक मॉडल पर आधारित

भारतीय एमएसएमई उद्योग को राष्ट्रीय और वैश्विक स्तर पर सक्षम बनाने का लक्ष्य


दिल्ली। सूक्ष्म,लघु एंव मध्यम उद्यम मंत्रालय (एमएसएमई) ने एक चैंपियन्स पोर्टल शुरु किया है। यह प्रौद्योगिकी आधारित एक प्रबंधन सूचना प्रणाली है जिसका उद्देश्य एमएसएमई क्षेत्र को राष्ट्रीय और वैश्विक स्तर पर सक्षम बनाने, गुणवत्ता हासिल करने और प्रशासनिक बाधाओं को दूर करने में मदद करना है। आधुनिक तकनीक के सांमजस्यपूर्ण अनुप्रयोंगों के साथ छोट उद्योगों को राष्ट्रीय और वैश्विक स्तर पर सक्षम बनाने के मूल लक्ष्य के अनुरुप इस पोर्टल को चैंपियन्स का नाम दिया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से एमएसएमई क्षेत्र से जुडी समस्त जानकारियां एक स्थान पर उपलब्ध कराई गई हैं।

एमएसएमई मंत्रालय के नए सचिव श्री ए के शर्मा ने 30 अप्रैल को पदभार ग्रहण करते समय ही यह संकेत दे दिया था कि वर्तमान कठिन परिस्थितियों में देश के छोटे उद्योगों की मदद करने के लिए एक आईसीटी आधारित प्रणाली स्थापित की जाएगी जो उन्हें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कारेाबारी क्षमता बढाने में मदद करेगी। इस प्रणाली का प्रायोगिक परीक्षण 9 मई को शुरु किया गया था।

यह एक प्रौद्योगिकी पैक नियंत्रण कक्ष-सह-प्रबंधन सूचना प्रणाली है जिसे टेलीफोन, इंटरनेट और वीडियो कॉन्फ्रेंस जैसे आईसीटी टूल्स के अलावा, आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस, डेटा एनालिटिक्स और मशीन लर्निंग द्वारा सक्षम बनाया गया है। इसे भारत सरकार की मुख्य केन्द्रीकृत लोक शिकायत निवारण और निगरानी प्रणाली (सीपीजीआरएएमएस) और एमएसएमई मंत्रालय की अन्य वेब प्रणालियों के साथ सीधे जोडा गया है। इस पूरी प्रणाली को बिना किसी लागत के एनआईसी की मदद से स्वदेशी तकनीक से विकसित किया गया है। इसकी भौतिक अवसंरचना रिकॉर्ड समय में मंत्रालय में ही तैयार की गई है।

सूचना प्रणाली में कंट्रोल रूम का एक नेटवर्क हब एंड स्पोक मॉडल में बनाया गया है। हब नई दिल्ली में एमएसएमई सचिव के कार्यालय में स्थित है और राज्यों में ​मंत्रालय के विभिन्न कार्यालयों को इससे जोडा गया है। इस नियंत्रण प्रणाली के हिस्से के रूप में अब तक, 66 राज्यों में स्थानीय स्तर के नियंत्रण कक्ष बनाए जा चुके हैं।

पोर्टल के लिए एक विस्तृत परिचालन प्रक्रिया जारी की गई है, अधिकारियों की विशेष तौर पर नियुक्ति की गई है और उन्हें प्रशिक्षण देने का काम किया गया है। श्री शर्मा ने 9 मई को अपने अधिकारियों और कर्मचारियों के बीच चैंपियंस प्रणाली का परीक्षण शुरू किया था। इस अवसर पर देश के लगभग 120 स्थानों को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जोड़ा गया था।

श्री शर्मा ने चैंपियन्स प्रणाली का शुभारंभ करने के अवसर पर कहा कि यह एमएसएमई इकाइयों और उन पर निर्भर लोगों के लिए है। इन इकाइयों और इससे जुडे लोगों को हमारी मदद की बेहद जरुरत है। हम इनकी मदद करने,दोबारा कारोबार शुरु करने तथा पूरी तरह से इनका कायाकल्प करने के लिए सब कुछ करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat