अनिवार्य प्रश्न
China was successful in controlling population, brought new policy of One Family 3 Child

आबादी नियंत्रण में सफल रहा चीन, वन फैमिली 3 चाइल्ड की लाया नई पॉलिसी


अनिवार्य प्रश्न। कार्यालय संवाद


भारत की बेहिसाब बढ़ती आबादी तो रुक नहीं पाई है लेकिन चीन ने अपनी आबादी की वृद्धि को रोकने में सफलता पा ली है। बीते कल चीन के शीर्श नेताओं व मंत्रियों की बैठक में एक परिवार तीन बच्चे की नई मान्यता देने के नए प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए और चीन में एक पति पत्नी को 3 बच्चे पैदा करने की अनुमति प्रदान कर दी गई है। अब तक चीन में सिर्फ 2 बच्चे पैदा करने की इजाजत थी। जो लोग चीन के इस नियम को नहीं मानते थे उनको कई सरकारी सेवाओं व नौकरियों से वंचित कर दिया जाता था। साथ ही उनके ऊपर अलग-अलग दंड वह समन किया जाता था।

अधिक बच्चे पैदा करने वाले नागरिकों को चीन की माक्र्सवादी सरकार की सभी तरह की सेवाओं से वंचित रहना पड़ता था। विगत दिनों चीन की जनसंख्या से जुड़े कई आश्चर्यजनक आंकड़े सामने आए थे। जिसमें चीन की आबादी ठहर सी गई थी। चीन ने विगत 50 सालों में अपने आबादी के लिए बनाए गए कठोर कानून के कारण अपनी आबादी नियंत्रण में सफलता पा ली है।

एक परिवार तीन बच्चे की नई चीनी पॉलिसी को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मंजूरी मिल गई है। अब चीन में वर्षों से चल रही टू चाइल्ड रूल को खत्म ेर दिया गया है। विश्व भर में इस बात को लेकर चर्चा भी है कि चीन कोरोना से अपनी बड़ी जनहानि को और जैविक विकास को संतुलित करने के लिए भी ऐसा कदम उठा सकता है।

आंकड़ों के अनुसार चीन की जन्म दर 1961 के बाद वर्तमान में सबसे कम हो गई है। चीन की घटती जन्म दर के कारण वहां की जनसंख्या जल्द ही एकदम कम हो जाएगी। उसकी जन्म दर में आई गिरावट से उसके आबादी का बहुत बड़ा हिस्सा वृद्धों का हो सकता था। चीन एकमात्र ऐसा देश है जो विश्व भर को अनेक तरह की सामग्रियों का निर्यात करता है। उसके यहां उत्पादन करने वाली कंपनियों का रेला है। छोटी से बड़ी हर जरूरत की सामग्री चीन बनाता है और विश्वभर को निर्यात करता है। उसकी अर्थव्यवस्था उसकी अपनी खरीद और उपभोग के अतिरिक्त विश्व के निर्यात पर भी जुड़ी हुई है। ऐसे में अचानक उसका उत्पादन वृद्धों की अधिक संख्या होने के कारण गिर जाती और विश्वभर की जरूरत की चीजें अपर्याप्त हो जाती।

चीन में हाल ही में जारी नए आंकड़ों के मुताबिक पिछले दशक में 0.53 प्रतिशत की वार्षिक औसत जनसंख्या वृद्धि दर्ज की गई थी जो कि 1950 के बाद सबसे कम मानी जा रही है। चीन सबसे पहले एक परिवार एक बच्चा के नियम को लागू किया था उसके बाद उसने 2016 में एक परिवार दो बच्चे की पॉलिसी लागू की। आबादी नियंत्रण के लिए बनाए गए कानून में यह चीन का तीसरा नया प्रयोग है। हालांकि यहां पर यह कहना पड़ेगा कि चीन अपने आबादी के नियंत्रण में सफल रहा है। अब उससे आप बढ़ते बुजुर्गों की संख्या के कारण वह एक परिवार तीन बच्चे को अनुमति प्रदान कर दिया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *