अनिवार्य प्रश्न
India developed M-Yoga mobile app in collaboration with WHO

डब्ल्यूएचओ के सहयोग से भारत ने विकसित किया एम-योग मोबाइल ऐप


अनिवार्य प्रश्न। संवाद


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 7वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अपने सम्बोधन के दौरान ‘डब्ल्यूएचओ एम-योग’ ऐप लॉन्च किया। एम-योग ऐप कई भाषाओं में सामान्य योग प्रोटोकॉल पर आधारित, योग प्रशिक्षण और अभ्यास के कई वीडियो उपलब्ध कराएगा। इसे आधुनिक तकनीक और प्राचीन विज्ञान के मेल का एक बेहतरीन उदाहरण बताते हुए प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि एम-योग एप, योग को दुनिया भर में फैलाने में मदद करेगा और ‘एक विश्व, एक स्वास्थ्य’ के प्रयासों में योगदान देगा।

प्रधानमंत्री ने कहा “जब भारत ने संयुक्त राष्ट्र में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा, तो इसके पीछे की भावना इस योग विज्ञान को पूरी दुनिया के लिए सुलभ बनाना था। आज भारत ने संयुक्त राष्ट्र और डब्ल्यूएचओ के साथ मिलकर इस दिशा में एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

ब दुनिया को एम-योग एप की ताकत मिलने वाली है। इस ऐप में सामान्य योग प्रोटोकॉल पर आधारित योग प्रशिक्षण के कई वीडियो दुनिया की विभिन्न भाषाओं में उपलब्ध होंगे। यह आधुनिक तकनीक और प्राचीन विज्ञान के मिलन का भी बेहतरीन उदाहरण है। मुझे विश्वास है कि एम-योग ऐप दुनिया भर में योग के विस्तार और ‘एक विश्व, एक स्वास्थ्य’ के प्रयासों को सफल बनाने में बड़ी भूमिका निभाएगा।“

यह मोबाइल ऐप दुनिया भर के लोगों के बीच, विशेष रूप इस महामारी के दौरान, योग और तंदुरुस्ती को बढ़ावा देने में बेहद मददगार साबित होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह कोविड-19 से ठीक हो चुके कोविड रोगियों के स्वास्थ्य के पुन: पुनर्वास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *