अनिवार्य प्रश्न
India's foreign trade by June 2020 full report

जून 2020 तक भारत का विदेश व्यापार : पूरी रिपोर्ट


अनिवार्य प्रश्न । संवाद


भारत से अप्रैल-जून 2020-21* में  101.02 अरब अमेरिकी डॉलर का समग्र निर्यात (वस्तुएं एवं सेवाएं) होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 25.92  (-) प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि को दर्शाता है। उधर, अप्रैल-जून 2020-21* के दौरान  89.31 बिलियन अमेरिकी डॉलर का समग्र आयात होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 45.10 (-) प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को दर्शाता है।

1. वस्तुओं का व्यापार

निर्यात (पुनर्निर्यात सहित)

  • जून , 2020 में 21.91 अरब अमेरिकी डॉलर का निर्यात हुआ, जून 2019 में हुए 25.01 अरब अमेरिकी डॉलर के निर्यात की तुलना में 12.41 (-) प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि को दर्शाता है। रुपये के लिहाज से जून, 2020 में निर्यात 1,65,898.85 करोड़ रुपये का हुआ वहीं जून 2019  में निर्यात 1,73,682.55 करोड़ रुपये का हुआ जो 4.48 (-) प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि को दर्शाता है।
  • प्रमुख जिन्स समूह जिन्होंने जून, 2019 की तुलना में जून 2020 के दौरान सकारात्मक वृद्धि दर्ज की है उनमें लौह अयस्क (63.11%), तेल बीज (50.48%), चावल (32.72%), तेल भोजन (27.36%), मसाले (22.92%) , अन्य अनाज (19.35%), जैविक और अकार्बनिक रसायन (19.06%), अनाज की तैयारी और विविध प्रसंस्कृत वस्तुएँ (13.8%), फल और सब्जियाँ (11.01%), औषधि और फार्मास्यूटिकल्स (9.89%), तम्बाकू (3.56%) और कॉफी (2.58%) शामिल हैं।
  • प्रमुख जिन्स समूह जिन्होंने जून, 2019 की तुलना में जून 2020 के दौरान नकारात्मक वृद्धि दर्ज की है उनमें रत्न और आभूषण (-50.06%), चमड़ा और चमड़ा उत्पाद (-40.47%), सभी वस्त्रों की आरएमजी (-34.84%), मानव निर्मित यार्न / कपड़ा(-31.98%), पेट्रोलियम उत्पाद (-31.65%), काजू (-27.02%), मांस, डेयरी और पोल्ट्री उत्पाद (-25.88%), हस्तशिल्प, हाथ से बने कालीन (-23.95%), इलेक्ट्रॉनिक सामान (-22.52%), जूट उत्पाद, फर्श कवर (-14.06%), सिरेमिक उत्पाद और कांच के बने पदार्थ (-10.91%), कालीन (-10.46%), समुद्री उत्पाद (-9.74%), चाय (-8.01%), इंजीनियरिंग सामान (-7.9%), प्लास्टिक और लिनोलियम (-4.4%), सूती धागे / फैब्स / निर्मित मेकअप, हथकरघा उत्पाद आदि (-3.83%) और मीका, कोयला और अन्य अयस्क, प्रसंस्कृत खनिज (-1.13%) सहित खनिज शामिल हैं।
  • अप्रैल-जून 2020-21 की अवधि के लिए निर्यात का संचयी मूल्य 51.08 बिलियन अमेरिकी डॉलर (5,63,984.51 करोड़ रुपये) रहा जो अप्रैल-जून 2019-20 की अवधि के दौरान 51.32 बिलियन अमेरिकी डॉलर (3,89,016.27 करोड़ रुपये) का था। डॉलर के संदर्भ में (-) 36.71 प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि (रुपये की नकारात्मक वृद्धि – 31.02 प्रतिशत) दर्ज की गई।
  • जून 2020 में गैर-पेट्रोलियम और गैर-रत्न और आभूषण निर्यात मूल्य 18.48 बिलियन अमेरिकी डॉलर रहा जबकि जून 2019 में यह 19.15 बिलियन डॉलर था और इसमें  (-) 3.51 प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई थी। अप्रैल-जून 2020-21 में गैर-पेट्रोलियम और गैर-रत्न और आभूषणों के निर्यात 43.91 बिलियन अमेरिकी डॉलर का था जो 2019-20 में इसी अवधि के लिए 60.10 बिलियन डॉलर का था। इस तरह से इसमें (-) 26.94 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई।

आयात

  • जून 2020 में 21.11 अरब अमेरिकी डॉलर (1,59,892.42 करोड़ रुपये) का आयात हुआ जो जून, 2019 में 40.29 अरब अमेरिकी डॉलर (2,79,771.07 करोड़ रुपये) के मुकाबले डॉलर के लिहाज से 47.59  प्रतिशत कम है और रुपये के लिहाज से भी 42.85 प्रतिशत कम है। अप्रैल-जून 2020-21 में कुल मिलाकर 60.44 अरब अमेरिकी डॉलर (.4,58,395.18 करोड़ रुपये) का आयात हुआ, अप्रैल-जून 2019-20 में हुए आयात 127.04 अरब अमेरिकी डॉलर (8,83,652.93 करोड़ रुपये) रहा, दोनों वित्तीय वर्ष की तुलना में डॉलर के लिहाज से (-) 52.43 प्रतिशत नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई है और रुपये की दृष्टि से (-) 48.12 प्रतिशत नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई है।
  • जून, 2020 में जिन प्रमुख जिंस समूहों के आयात में पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में ऋणात्मक वृद्धि दर्ज की गई है उनमें निम्नलिखित शामिल हैं-

कच्चे तेल और गैर-तेल (पेट्रोलियम) का आयात:

  • जून 2020 में तेल का आयात 4.93 अरब अमेरिकी डॉलर ( 37,341.70 करोड़ रुपये) था, जो कि जून 2019 में 11.03 अरब अमेरिकी डॉलर (76,586.73 करोड़ रुपये) की तुलना में डॉलर के संदर्भ में 55.29 प्रतिशत कम (रुपये में 51.24 प्रतिशत कम) था। अप्रैल-जून 2020-21 में तेल का आयात 13.08 अरब अमेरिकी डॉलर (99,259.42 करोड़ रुपये) की तुलना में डॉलर के संदर्भ में 62.47 प्रतिशत (रुपये में (59.05 प्रतिशत कम) कम था, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 34.85 अरब अमेरिकी डॉलर (2,42,398.55 करोड़ रुपये) का रहा था।
  • इस संबंध में यह उल्लेख किया गया है कि विश्व बैंक से उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार जून 2020 में जून 2019 क तुलना में वैश्विक ब्रेंट मूल्य ($ / bbl) 36.92 % कम हो गया है।
  • जून 2020 में गैर-तेल (पेट्रोलियम) के आयात का अनुमान 16.18 अरब अमेरिकी डॉलर (1,22,550.72 करोड़ रुपये) था, जो कि जून 2019 में 31.94 अरब अमेरिकी डॉलर (2,21,896.23 करोड़ रुपये) की तुलना में डॉलर के संदर्भ में 44.69 प्रतिशत कम (रुपये में 39.68 प्रतिशत कम) था। अप्रैल-जून 2019-20 में गैर-तेल का आयात 47.36 अरब अमेरिकी डॉलर (3,59,135.76 करोड़ रुपये) था, जो कि अप्रैल-जून 2019-20 में 92.19 अरब अमेरिकी डॉलर (6,41,254.38 करोड़ रुपये) की तुलना में डॉलर के संदर्भ में 48.63 प्रतिशत कम (रुपये के संदर्भ में 43.99 प्रतिशत कम) था।
  • जून 2020 में गैर-तेल (पेट्रोलियम) और गैर-रत्न व जेवरात आयात 15.57 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ, वहीं जून 2019 में 26.57 अरब अमेरिकी डॉलर का रहा यानि इस अवधि की तुलना की जाए तो यह (-) 41.37 प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को दर्शाता है। अप्रैल- जून 2019-20 में गैर-पेट्रोलियम और गैर-रत्न व जेवरात आयात 46.67 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ, जो पिछले वित्तीय वर्ष की समान अवधि  में 80.75 अरब अमेरिकी डॉलर का रहा था, यानि पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में वर्तमान वित्तीय वर्ष में (-) 42.20 प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को रेखांकित करता है।

II. सेवाओं का व्यापार

निर्यात (प्राप्तियां)

  • भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा 15 जुलाई, 2020 को जारी नवीनतम प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार मई, 2020 में निर्यात 16.77 अरब अमेरिकी डॉलर ( 1,26,851.39 करोड़ रुपये) का हुआ, जो मई 2019 की तुलना में डॉलर के लिहाज से  (-) 10.24 प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को दर्शाता है। जून 2020* में सेवाओं का निर्यात 16.48 अरब अमेरिकी डॉलर का होने का अनुमान लगाया गया है।

आयात (भुगतान)

  • भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा 15 जुलाई, 2020 को जारी नवीनतम प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार मई, 2020 में आयात  9.94 अरब अमेरिकी डॉलर ( 75,190.81 करोड़ रुपये) का हुआ, जो मई 2019 की तुलना में डॉलर के लिहाज से (-)20.45 प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को दर्शाता है। जून 2020* में सेवाओं का आयात 9.64 अरब अमेरिकी डॉलर का होने का अनुमान लगाया गया है।

III. व्यापार संतुलन

  • वस्तुएं: जुलाई, 2020 में व्यापार घाटा 0.79 अरब अमेरिकी डॉलर रहने का अनुमान लगाया गया है, जबकि जून 2019 में यह व्यापार घाटा 15.28 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ था।
  • सेवाएं : आरबीआई द्वारा 15 जुलाई, 2020 को जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार मई 2020 के दौरान सेवाओं में व्यापार संतुलन (अर्थात शुद्ध सेवा निर्यात) 6.83 अरब अमेरिकी डॉलर रहने का अनुमान लगाया गया है।
  • समग्र व्यापार संतुलन : वस्तुओं एवं सेवाओं दोनों को ही मिलाने पर अप्रैल-जून 2020-21* में कुल मिलाकर 11.70 अरब अमेरिकी डॉलर का समग्र व्यापार घाटा होने का अनुमान लगाया गया है, जबकि अप्रैल-जून 2019-20 में व्यापार घाटा 26.32 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ था।

नोट: आरबीआई द्वारा जारी किया गया सेवा क्षेत्र से जुड़ा नवीनतम आंकड़ा मई, 2020 से संबंधित है। जून, 2020 से संबंधित डेटा (आंकड़ा) सिर्फ एक आकलन है जिसमें आरबीआई की अगली प्रेस विज्ञप्ति के आधार पर संशोधन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat