अनिवार्य प्रश्न
Multi-storey building to be built in Delhi for MP representatives of homeless Indians

बेघर भारतीयों के सांसद प्रतिनिधियों के लिए दिल्ली में बनेगी बहुमंजिला इमारत


अनिवार्य प्रश्न। संवाद


नई दिल्ली। भारत को आजाद हुए 70 साल बीत गए हैं लेकिन प्रत्येक भारतीय को भले ही आज तक अच्छी छत व घर नहीं मिल पाया और अनेक भारतीय आज भी ऐसे हैं जिनकी बरसात काटे नहीं कटती है। ऐसे में उनके लिए कुछ खुशी कुछ गम की खबर है। उनके द्वारा चुने गए सांसद प्रतिनिधियों को अब दिल्ली में बहुमंजिला इमारत का तोहफा मिलने जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्‍यम से संसद सदस्‍यों के लिए बहुमंजिले फ्लैटों का उद्घाटन किया। ये फ्लैट नई दिल्‍ली में डॉ. बी. डी. मार्ग पर बनाए गए हैं। 80 साल से भी अधिक पुराने आठ बंगलों को फिर से विकसित करके 76 फ्लैट बनाए गए हैं।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने अपने वक्तव्य में कहा कि संसद सदस्‍यों के लिए बहुमंजिले फ्लैटों में हरित भवन मानकों को शामिल किया गया है। उन्‍होंने आशा व्‍यक्‍त की कि ये फ्लैट सभी निवासियों और संसद सदस्‍यों को सुरक्षित रखेंगे। उनके अनुसार सांसदों के लिए आवासीय समस्‍या काफी पुरानी थी, लेकिन अब यह सुलझा ली गई है। दशकों पुरानी समस्‍याएं टालने से खत्‍म नहीं होतीं, बल्कि समाधान निकालने से खत्‍म होती हैं। उन्‍होंने दिल्‍ली में ऐसी अनेक परियोजनाओं का हवाला दिया, जो वर्षों से अधूरी थीं और इस सरकार ने उन्‍हें निश्चित समय से पहले पूरा किया। उन्‍होंने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में अंबेडकर राष्‍ट्रीय स्‍मारक पर विचार-विमर्श प्रारंभ हुआ था और 23 वर्षों की लंबी प्रतीक्षा के बाद इस सरकार ने स्‍मारक बनवाया। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्रीय सूचना आयोग का नया भवन, इंडिया गेट के निकट युद्ध स्‍मारक और राष्‍ट्रीय पुलिस स्‍मारक का निर्माण इस सरकार ने किया, जो काफी समय से लंबित था।


Multi-storey building to be built in Delhi for MP representatives of homeless Indians


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *