अनिवार्य प्रश्न

कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई का समर्थन करने के लिए लाइफलाइन उड़ान के तहत 415 उड़ानें की गईं संचालित


अनिवार्य प्रश्न । संवाद


दिल्ली। एयर इंडिया, अलायंस एयर, आईएएफ और निजी विमान वाहकों द्वारा लाइफलाइन उड़ान के तहत विगत दिनों 415 उड़ानें संचालित की गई हैं। इनमें से 241 उड़ानें एयर इंडिया और अलायंस एयर द्वारा संचालित की गई हैं। अब तक ले जाया गया कार्गो लगभग 779.86 टन रहा है।

उल्लेखनीय है कि लाइफलाइन उड़ान द्वारा तय की गई अब तक की कुल हवाई दूरी 4,07,139 किमी से अधिक है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा घरेलू क्षेत्र में लाइफलाइन उड़ान की उड़ानों को संचालित किया जा रहा है ताकि कोविड-19 के खिलाफ भारत के युद्ध का समर्थन करने के लिए देश के दूर-दराज के हिस्सों में आवश्यक चिकित्सा कार्गो का परिवहन किया जा सके।

पवन हंस ने 29 अप्रैल, 2020 तक 7,257 किमी की दूरी तय करते हुए 2.0 टन कार्गो का परिवहन किया है। इसमें विशेष ध्यान पूर्वोत्तर क्षेत्र, द्वीपों और पहाड़ी राज्यों पर दिया गया। पवन हंस लिमिटेड सहित हेलीकॉप्टर सेवाएं जम्मू एवं कश्मीर, लद्दाख, द्वीपों और पूर्वोत्तर क्षेत्र में महत्वपूर्ण चिकित्सा कार्गो और रोगियों का परिवहन कर रही हैं। एयर इंडिया और आईएएफ ने मुख्य रूप से जम्मू एवं कश्मीर, लद्दाख, पूर्वोत्तर और अन्य द्वीप क्षेत्रों के लिए सहयोग किया है।

इतना ही नहीं घरेलू कार्गो ऑपरेटर स्पाइसजेट, ब्लू डार्ट, इंडिगो और विस्तारा वाणिज्यिक आधार पर कार्गो उड़ानें संचालित कर रहे हैं। स्पाइसजेट ने 11,84,107 किमी की दूरी को कवर करते हुए 683 कार्गो उड़ानें संचालित कीं और 4,940 टन माल ढोया है। इनमें से कुल 245 अंतर्राष्ट्रीय कार्गो उड़ानें थीं। ब्लू डार्ट ने 2,53,631 किमी की दूरी को कवर करते हुए 233 कार्गो उड़ानों का संचालन किया और 3,932 टन माल ढोया। इनमें से 12 अंतर्राष्ट्रीय श्रेणी की कार्गो उड़ानें थीं। इंडिगो ने 1,01,989 किमी की दूरी को कवर करते हुए 64 कार्गो उड़ानें संचालित की हैं और लगभग 269 टन कार्गो का परिवहन किया है जिनमें 18 अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें शामिल हैं। इसमें सरकार के लिए मुफ्त में ढोई जाने वाली चिकित्सा आपूर्ति भी शामिल है। विस्तारा ने 24,141 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए लगभग 123 टन माल ढोने वाली 17 कार्गो उड़ानें संचालित की हैं।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में दी गई जानकारी के अनुसार अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में दवा, चिकित्सा उपकरण और कोविड-19 राहत सामग्री के परिवहन के लिए पूर्वी एशिया के साथ एक कार्गो एयर-ब्रिज की स्थापना की गई थी। इसमें एयर इंडिया द्वारा लाए गए मेडिकल कार्गो की मात्रा 729 टन है।

उपरोक्त के अलावा 14 अप्रैल से लेकर 29 अप्रैल 2020 तक ब्लू डार्ट ने गुआंगझू और शंघाई से लगभग 114 टन चिकित्सा सामग्री का परिवहन किया है। स्पाइसजेट ने भी 29 अप्रैल 2020 तक शंघाई और गुआंगझू से 153 टन चिकित्सा सामग्री का परिवहन किया और 25 अप्रैल 2020 तक हॉन्ग कॉन्ग और सिंगापुर से 13 टन चिकित्सा आपूर्ति का परिवहन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat