अनिवार्य प्रश्न
State-of-the-art fighter aircraft Rafael has now arrived

भारत के पास अब आ गया अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल


अनिवार्य प्रश्न । संवाद


नई दिल्ली। आज के बाद राफेल लड़ाकू विमान भारत के पास लड़ाई के लिए हर समय उपलब्ध रहेगा। चीन व पाकीस्तान जैसे देशों को आसमान के आगोस में जवाब देना अब और भी आसान हो जाएगा। हमारे जाबांज पायलट फ्रांस से भारत के लिए राफेल लड़ाकू विमान लेकर उड़ान भर दिए हैं।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार (भारतीय वायु सेना) राफेल लड़ाकू विमानों ने आज 27 जुलाई 2020 को सुबह फ्रांस के मेरिग्नैक स्थित दसॉल्ट एविएशन फैसिलिटी से भारत के लिए उड़ान भर दी है। इन आने वाले पांच विमानों में तीन सिंगल सीटर विमान और दो ट्विन सीटर विमान शामिल हैं।

राफेल लड़ाकू विमानों का आगमन दो चरणों में कराने की योजना बनाई गई है। इन विमानों को वहां से लाने की जिम्‍मेदारी भारतीय वायुसेना के पायलटों को दी गई है जिन्होंने इन विमानों को उड़ाने का व्यापक प्रशिक्षण लिया है। वहां से आगमन के पहले चरण के दौरान हवा से हवा में ईंधन भरने का काम भी यही पायलट करेंगे। फ्रांसीसी वायु सेना द्वारा उपलब्‍ध कराए गए विशेष टैंकर की सहायता से यह काम सफलतापूर्वक किया जाएगा।

राफेल लड़ाकू विमानों के 29 जुलाई 2020 को अंबाला स्थित एयर फोर्स स्टेशन पर पहुंचने की संभावना है। हालांकि, इन विमानों के आगमन के दौरान मौसम को भी ध्‍यान में रखा जा रहा है। सरकारी सूचना के आधार पर नंबर 17 स्क्वाड्रन ‘गोल्डन एरोज’ को राफेल विमानों से लैस सैन्‍य बेस पर तैयार किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat