अनिवार्य प्रश्न

झुंझुनू से दुआएं देते हुए विदा हुए बिहारी


अनिवार्य प्रश्न । कार्यालय संवाद


दुआएं देते हुए रवाना हुए झुंझुनू से बिहार के यात्री
राज्य सरकार व जिला प्रशासन को दिया साधुवाद


जयपुर। लॉक डाउन के कारण अपने गृह राज्य बिहार नहीं जा सके श्रमिक प्रवासियों ने मंगलवार को दुआएं देते हुए राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन को साधुवाद दिया। बिहारी स्थानीय सरकार और जिला प्रशासन से काफी खुश दिखे जिसने उनकी घर वापसी करवाई। जिला कलेक्टर यू डी खान सहित अन्य अधिकारियों ने झुंझुनू रेलवे स्टेशन से बिहार के किशनगंज रेलवे स्टेशन के लिए रवाना हुई श्रमिक स्पेशल टे्रन के यात्रियों को विदाई दी।

जिलाधिकारी ने बताया कि इस कार्य के लिए राज्य सरकार ने 11 लाख रुपये की राशि का खर्च वहन किया है। जिले के सभी उपखण्डों से बसों के माध्यम से बिहार के लोगों को झुंझुनू रेलवे स्टेशन लाया गया। यहां पर उनकी मेडिकल जांच, भोजन पैकेट, पीने के पानी की बोतल, मास्क आदि दिए गयो। इस श्रमिक स्पेशल टे्रन से 1294 (1260 यात्री व 34 छोटे बच्चे) श्रमिकों व अन्य यात्रियों को अपने घर के लिए रवाना किया गया।

श्री खान ने कहा कि खुशी की बात है कि ये सभी लोग सकुशल अपने घर जाए रहे हंै, ईश्वर से यही कामना है कि ये सब स्वस्थ्य रहें और अपने परिवार को भी इस कोरोना के संक्रमण से बचाएं। जिला कलेक्टर ने कहा कि लगातार सर्वे कर अन्य राज्यों के लोगों को उनके गृह राज्यों में भिजवाया जा रहा है। जो शेष रह चुके हैं उनका भी पुन सर्वे कर उनको भिजवाने की पूरी व्यवस्था राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन की ओर से की जाएगी।

उन्होंने आगे बताया कि पश्चिम बंगाल के 134 लोगों को सीकर से जाने वाली स्पेशल टे्रन तक भिजवाने के लिए जिला प्रशासन रोडवेज की बसों की मदद लेगा और उन्न्हें सीकर रेलवे स्टेशन तक पूरे सम्मान के साथ विदाई देगा। यात्रियों को भोजन के पैकेट तथा पानी की बोतल वितरण में राजस्थान राज्य भारत स्काउट गाईड की टीम का पूर्ण सहयोग ले रहा है। हम सबको बारी-बारी घर पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat