अनिवार्य प्रश्न
Commemorative postage stamp issued on the completion of 100 years of Mahatma Gandhi's first Odisha visit

महात्मा गांधी की पहली ओडिशा यात्रा के 100 वर्ष पूरे होने पर स्मारक डाक टिकट जारी

 


अनिवार्य प्रश्न। संवाद


नई दिल्ली। शिक्षा, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री संजय धोत्रे ने महात्मा गांधी की पहली ओडिशा यात्रा के 100 वर्ष पूरा होने के मौके पर एक स्मारक डाक टिकट जारी किया। इस संबंध में स्वराज आश्रम, कटक, ओडिशा में सार्वजनिक समारोह का आयोजन में किया गया। इस मौके पर कटक से संसद सदस्य भर्तृहरि महताब, उड़ीसा सरकार में उड़िया भाषा, पर्यटन और संस्कृति ज्योति प्रकाश पाणिग्रही, और डाक विभाग के वरिष्ठ अधिकारी भी समारोह में मौजूद थे।

यह स्मारक डाक टिकट भारतीय इतिहास की एक महत्वपूर्ण घटना का जश्न मनाता है। 23 मार्च, 1921 को महात्मा गांधी ने पहली बार ओडिशा की यात्रा की थी। इस यात्रा ने देश में असहयोग आंदोलन को बढ़ावा दिया और स्वतंत्रता संग्राम के संघर्ष को मजबूती प्रदान की। महात्मा गांधी की यात्रा के दौरान, बड़ी संख्या में युवाओं ने आंदोलन में भाग लिया और महिलाओं ने नियमित रूप से चरखा चलाया और खादी के इस्तेमाल का प्रचार किया। लोगों ने विदेशी कपड़ों का इस्तेमाल छोड़ दिया। महात्मा गांधी की ऐसी जादुई उपस्थिति थी कि पूरा ओडिशा नींद से जाग गया और लोग राष्ट्रीय आंदोलन में कूद पड़े ।

शिक्षा, संचार , इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री संजय धोत्रे ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज भारत “आजादी का अमृत महोत्सव” मना रहा है। महात्मा गांधी की ओडिशा यात्रा के 100 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में स्मारक डाक टिकट इस उत्सव का एक हिस्सा है। आने वाले दिनों में, डाक विभाग भारत के स्वतंत्रता संग्राम की ऐसी और महत्वपूर्ण घटनाओं का स्मरण करेगा।

आज जारी किया गया डाक टिकट युवाओं, महिलाओं, बुद्धिजीवियों और आम लोगों के लिए एक प्रेरणा है। औपनिवेशिक शासन में सौ साल पहले समाज ने जिन चुनौतियों का सामना किया था, उन्हें आज के समाज के लिए समझना आसान नहीं है ।

स्मारक डाक टिकट का पहला दिन कवर कटक के स्वराज आश्रम का चित्रण करता है, जहां महात्मा गांधी 23 मार्च, 1921 को ओडिशा की अपनी पहली यात्रा के दौरान रुके थे।

स्मारक डाक टिकट, पहले दिन कवर (एफडीसी) और सूचना पुस्तिका देश के 76 फिलाटेलिक ब्यूरो में बिक्री के लिए उपलब्ध होगी। साथ ही इसे ई-पोस्टऑफिस के माध्यम से ऑनलाइन ऑर्डर भी किया जा सकता है। (क्लिक करें : https://www.epostoffice.gov.in/).

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *