अनिवार्य प्रश्न

औषधीय और सुगंधित पौधों पर फोटोग्राफी प्रतियोगिता


अनिवार्य प्रश्न । संवाद


प्रतियोगिता का विषय है: ‘अपने औषधीय और सुगंधित पौधे (एमएपी) को जानें’
इस प्रतियोगिता के माध्यम से, सीआईएमएपी औषधीय पौधों के संरक्षण का देना चाहता है संदेश


दिल्ली। औषधीय और सुगंधित पौधों ने हमेशा से लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। इनमें से कुछ पौधे अविश्वसनीय रूप से सुंदर होते हैं जबकि कुछ विशेष स्थानों पर ही पाए जाते हैं। मानव और पशुओं के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए उनके महत्त्व व मूल्य को लोगों की स्वीकार्यता मिली है। लेकिन बहुत से लोग इन पौधों में से अधिकांश की उपयोगिता और औषधीय महत्व से पूरी तरह परिचित नहीं हैं। इन पौधों की उपयोगिता के बारे में जागरूकता पैदा करने के प्रयास के तहत, केंद्रीय औषधीय और सुगंध पौधा संस्थान (सीआईएमएपी) ने औषधीय और सुगंधित पौधों पर एक फोटोग्राफी प्रतियोगिता की घोषणा की है। इस प्रतियोगिता के माध्यम से, सीआईएमएपीइन औषधीय पौधों के संरक्षण का संदेश भी देना चाहता है।

प्रतियोगिता का विषय है ‘अपने औषधीय और सुगंधित पौधे (एमएपी) को जानें। ’पहले, दूसरे और तीसरे स्थान के विजेताओं को नकद पुरस्कार के रूप में क्रमशः 5000 रुपये,3000 रुपये और 2000 रुपये दिए जायेंगे। इसके अलावा,1000 रुपये प्रत्येक के 10 सांत्वना पुरस्कार भी होंगे। प्रतियोगिता सभी भारतीय शौकिया (ऐमचर) और पेशेवर फोटोग्राफरों के लिए खुली है। प्रत्येक प्रविष्टि के लिए अधिकतम तीन फोटोग्राफ प्रस्तुत किए जा सकते हैं। स्वदेशी पौधों को प्राथमिकता दी जायेगी और संस्थान ने बागवानी या सजावट के सामान्य पौधों की तस्वीरों से बचने का अनुरोध किया है।

प्रत्येक तस्वीर में पौधे का सही लैटिन और स्थानीय भाषा में नाम होना चाहिए और 20-30 शब्दों में इसके औषधीय और सुगंधित महत्व के बारे लिखा होना चाहिए। केवल मौलिक व डिजिटल तस्वीरों को ही स्वीकार किया जाएगा, लेकिन प्रविष्टियों को ए4 पृष्ठ पर रंग के साथ छपा होना चाहिए। डिजिटल इमेज, एंट्री 300 डीपीआई के न्यूनतम रिजॉल्यूशन के साथ 3 एमबी आकार से कम का नहीं होना चाहिए। तस्वीरजेपीईजी या टीआईएफएफ प्रारूप में होनी चाहिए, डिस्प्ले रिजॉल्यूशन 1086/768 होना चाहिए और लम्बवत आकार 1086 से अधिक नहीं होना चाहिए। रॉ फाइलों को बाद की तारीख में जमा करने के लिए कहा जा सकता है यदि तस्वीर को पुरस्कार के लिए चुना जाता है।

प्रतिभागी को स्व-घोषणा करनी होगी कि फोटो को प्रतियोगिता में प्रवेश पाने के लिए मेल भेजने वाले व्यक्ति द्वारा स्वयं शूट किया गया है। विजेता फोटो का कॉपीराइट फोटोग्राफर के पास रहेगा, लेकिन सीआईएमएपी को प्रविष्टियों को प्रदर्शित करने और औषधीय व सुगंधित पौधों के प्रचार के लिए प्रचार सामग्री के रूप में उपयोग करने का अधिकार है। सीएसआईआर-सीआईएमएपी, लखनऊ के निदेशक द्वारा नामित जजों द्वारा विजेताओं को चुना जाएगा। जजों का फैसला अंतिम होगा। विज्ञप्ति के अनुसार विजेताओं की घोषणा सीएसआईआर-सीआईएमएपी के वार्षिक दिवस के अवसर पर की जानी है।

डिजिटल चित्र  pc@cimap.res.in पर ई-मेल किए जाने चाहिए। प्रविष्टि जमा करने की अंतिम तिथि 30 जून, 2020 है। प्रतियोगिता से सम्बंधितअन्य विवरण  www.cimap.res.in पर उपलब्ध हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat