अनिवार्य प्रश्न
Rs 6,000 crore 8th installment released to states to bridge GST deficit

जीएसटी राजस्व में आई कमी को पूरा करने के लिए केंद्र ने राज्यों को छठी किस्त के तहत 6000 करोड़ रुपये जारी किया, अब-तक 36 हजार करोड़ रुपये हुए जारी


अनिवार्य प्रश्न। संवाद


नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने जीएसटी राजस्व में आई कमी को पूरा करने के राज्यों को छठी किस्त के तहत 6000 करोड़ रुपये जारी किए है। जो कि इस मद के तहत हर हफ्ते जारी होने वाली राशि का हिस्सा है। जारी की गई राशि में से 5516.60 करोड़ रुपये 23 राज्यों को और 483.40 करोड़ रुपये की राशि तीन केंद्रशासित प्रदेशों को जारी की गई है। केंद्र शासित राज्यों में दिल्ली, जम्मू और कश्मीर और पुडुचेरी हैं। जहां पर विधानसभाएं हैं और यह प्रदेश जीएसटी काउंसिल के सदस्य भी हैं। जबकि बाकी बचे 5 राज्य अरूणाचल प्रदेश, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड और सिक्किम में में जीएसटी लागू करने के दौरान राजस्व में कमी नहीं आई है।

भारत सरकार राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों की ओर से जीएसटी राजस्व में आई कमी की भरपाई के लिए विशेष उधारी खिड़की के जरिए पूंजी मुहैया करा रही है। ऐसा अनुमान है जीएसटी लागू करने के बाद राज्यों को करीब 1.10 लाख करोड़ रुपये के राजस्व में कमी आई है।

इस हफ्ते जो रकम जारी की गई है, वह इस कड़ी में छठी किस्त है। इस हफ्ते रकम को 4.2089 फीसदी के ब्याज के कर्ज पर लिया गया है। केंद्र सरकार, इस मद के लिए 36 हजार करोड़ रुपये अब तक उधारी के रूप में ले चुकी है। जिस पर उसे 4.7106 फीसदी ब्याज चुकाना होगा।

विशेष उधारी खिड़की के द्वारा पूंजी चुकाने के साथ-साथ भारत सरकार जीएसटी लागू करने में आई राजस्व की कमी को पूरा करने के लिए इसके अलावा राज्यों को अपने सकल घरेलू उत्पाद का 0.50 फीसदी अतिरिक्त राशि के रूप में उधार लेने का भी विकल्प दे रही है। इसके लिए राज्य विकल्प-1 का चयन कर रहे हैं। इसके तहत 28 राज्यों को 1,06,830 करोड़ की अतिरिक्त उधारी का भी प्रावधान कर दिया गया है।

28 राज्यों द्वारा अतिरिक्त उधारी के रूप में दी गई अनुमति और उसके तहत विशेष खिड़की से जुटाई रकम की विस्तृत जानकारी परिशिष्ट में दी गई है।

राज्यों के सकल घरेलू उत्पाद के बराबर 0.50 फीसदी रकम को विशेष उधारी खिड़की के तहत दी जाने वाली रकम को 09-12-2020 को पारित कर दिया गया है।

 

क्रम.संख्या राज्य / केंद्रशासित प्रदेश राज्यों की सकल घरेलू उत्पाद के 0.50 फीसदी के बराबर जारी रकम राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को विशेष खिड़की के जरिए जारी रकम
1 आंध्र प्रदेश 5051 929.97
2 अरूणाचल प्रदेश* 143 0.00
3 असम 1869 400.24
4 बिहार 3231 1571.14
5 छत्तीसगढ़ 1792 169.26
6 गोआ 446 337.39
7 गुजरात 8704             3710.87
8 हरियाणा 4293 1751.13
9 हिमाचल प्रदेश 877 690.95
10 झारखंड 1765 91.95
11 कर्नाटक 9018 4992.85
12 केरल 4522 642.12
13 मध्य प्रदेश 4746 1827.79
14 महाराष्ट्र 15394 4820.05
15 मणिपुर* 151 0.00
16 मेघालय 194 44.99
17 मिजोरम* 132 0.00
18 नागालैंड* 157 0.00
19 ओडीसा 2858 1538.05
20 पंजाब 3033 930.88
21 राजस्थान 5462 1157.77
22 सिक्किम* 156 0.00
23 तमिलनाडु 9627 2511.68
24 तेलंगाना 5017 429.45
  25 त्रिपुरा 297 91.20
26 उत्तर प्रदेश 9703 2417.25
27 उत्तराखंड 1405 932.19
28 पश्चिम बंगाल 6787 493.45
  कुल (क) 106830 32483.36
1 दिल्ली नहीं लागू 2360.08
2 जम्मू एवं कश्मीर नहीं लागू 914.22
3 पुडुचेरी नहीं लागू 242.34
  कुल (ख) 0.00 3516.64
  कुल रकम (क+ख) 106830 36000.00

 

.इन राज्यों में जीएसटी के तहत राजस्व में कमी नही है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *