अनिवार्य प्रश्न

और अधिक सेवा के लिए एनओसी जरुरी : कमलकांत तिवारी


अनिवार्य प्रश्न। संवाद


जिलाधिकारी कानपुर देहात से चाइल्डलाइन 1098 सर्विस का संचालन करने के लिए एनओसी जारी करने की की मांग


कानपुर। नगर के देहात व नगर में मुसीबत में फसे बच्चों की आकस्मिक मदद के लिए काफी समय से बाल सेवी संस्था सुभाष चिल्ड्रेन सोसायटी द्वारा कानपुर नगर व कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर चाइल्ड लाइन कानपुर व चाइल्ड हेल्प डेस्क का संचालन किया जा रहा है। जिसकी सफलता को देखते हुए महिला बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा नियुक्त एनजीओ चाइल्डलाइन इंडिया फाउंडेशन व जिलाधिकारी कानपुर देहात की पहल पर कानपुर देहात में चाइल्डलाइन 1098 सर्विस का संचालन बस एक कदम दूर है।

माह नवंबर 2019 में स्थानीय जिलाधिकारी कानपुर देहात से बाल सेवी संस्था सुभाष चिल्ड्रेन सोसाइटी कानपुर नगर द्वारा कानपुर देहात में चाइल्डलाइन 1098 का संचालन करने के लिए निवेदन किया गया था। उनके द्वारा बाल हित में प्रभावी पहल की गई थी जो कि कानपुर देहात के बच्चों के लिए भविष्य में अच्छा उदाहरण साबित होगी। इसके साथ ही कानपुर देहात भी बाल अधिकारों के राष्ट्रीय नेटवर्क का हिस्सा बन जाएगा। जिसके लिए जिलाधिकारी कानपुर देहात से कानपुर देहात में बच्चों की मदद के लिए चाइल्ड लाइन 1098 का संचालन करने के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने का संस्था द्वारा अनुरोध किया गया है। जिससे चाइल्डलाइन 1098 का संचालन कर अधिक से अधिक बच्चों की मदद की जा सकेगी।

ज्ञातव्य है कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार के अंतर्गत चाइल्डलाइन इंडिया फाउंडेशन मुंबई द्वारा संचालित मुसीबत में फंसे एवं जरूरतमंद बच्चों की मदद के लिए 24 घंटे निशुल्क आपातकालीन राष्ट्रीय स्तर की फोन सेवा चाइल्डलाइन 1098 का संचालन भारत के 600 से अधिक शहरों व 50 से अधिक रेलवे स्टेशनों में किया जा रहा है। जिसके साथ ही कानपुर नगर में प्रदेश स्तर की बाल सेवी संस्था सुभाष चिल्ड्रेन सोसायटी के द्वारा उक्त चाइल्डलाइन 1098 का क्रियान्वयन सफलतापूर्वक विगत वर्ष 2007 से किया जा रहा है एवं सेंट्रल स्टेशन कानपुर नगर में बाल सहायता बूथ रेलवे चाइल्ड लाइन का संचालन विगत जनवरी 2018 से किया जा रहा है।

अवगत कराना है कि चाइल्ड लाइन कानपुर द्वारा विगत 12 वर्षों में 12000 से अधिक बच्चों को मदद पहुंचाई गई एवं रेलवे चाइल्ड लाइन द्वारा 1500 से अधिक बच्चों को मदद पहुंचाई गई। जिसमें भटके हुए बच्चों को उनके घर पहुंचाया गया। बच्चों को चिकित्सीय सहायता अनाथ बच्चों को आश्रय बच्चों की काउंसलिंग कर उन्हें उज्जवल भविष्य के लिए प्रेरणा प्रदान की तथा बच्चों को उनके साथ हो रहे शोषण से मुक्त कराया गया।

संस्था अध्यक्ष कमल कांत तिवारी ने बताया कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार के अंतर्गत चाइल्डलाइन इंडिया फाउंडेशन मुंबई द्वारा कानपुर देहात में विभिन्न संस्थाओं से वार्ता की गई थी जिस क्रम में उनके द्वारा कानपुर नगर की बाल सेवी संस्था सुभाष चिल्ड्रन सोसाइटी को उसके अनुभवों के आधार पर कानपुर देहात में चाइल्डलाइन 1098 सर्विस का संचालन करने के लिए चयनित किया गया है।

जिसमें संस्था के अनुभवों के बारे में विस्तार से उन्हें बताया गया कि कानपुर नगर व सेंट्रल स्टेशन में मिलने वाले अनाथ जरूरतमंद गुमशुदा बाल मजदूर चिकित्सा आवश्यकता वाले बच्चे व किसी के द्वारा सताए गए बच्चों को लाइन द्वारा आकस्मिक मदद पहुंचाने के साथ ही जनपद कानपुर देहात में मिलने वाले बच्चों को भी चाइल्ड लाइन कानपुर नगर द्वारा आकस्मिक सहायता पहुंचाई जा रही है जिसके साथ ही जनपद कानपुर देहात के अभी तक 150 से अधिक बच्चों को भी सहायता पहुंचाई जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat