अनिवार्य प्रश्न
Direct flights from Kalaburgi to Hindon begin

कलबुर्गी से हिंडन के लिए सीधी उड़ानें शुरू


अनिवार्य प्रश्न। संवाद


उड़ान योजना के तहत अब तक 295 मार्गों और 53 हवाई अड्डों पर कामकाज शुरू


नई दिल्ली। आरसीएस-उड़ान (रीजनल कनेक्टिविटी स्‍कीम – उड़े देश का आम नागरिक) के तहत कर्नाटक के कलबुर्गी से उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित हिंडन हवाई अड्डे के लिए पहली सीधी उड़ान सेवा आज शुरू हुई। इस मौके पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के अधिकारी मौजूद थे। उड़ान योजना के तहत देश को बेहतर वायु संपर्क मुहैया कराने की नागरिक उड्डयन मंत्रालय और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण की प्रतिबद्धता और आग्रह के अनुरूप कलबुर्गी-दिल्‍ली (हिंडन) मार्ग पर उड़ानें शुरू हुई हैं। आज की तिथि तक उड़ान योजना के तहत 295 मार्गों पर और 5 हेलिपोर्ट तथा 2 जल एरोड्रोम्‍स समेत 53 हवाई अड्डों परकामकाज शुरू हो गया है।

आरसीएस-उड़ान-3 निविदा प्रक्रिया के तहत पिछले साल ‘स्‍टार एयर’ एयरलाइंस को कलबुर्गी-हिंडन मार्ग पर उड़ानों के परिचालन की जिम्‍मेदारी मिली थी। एयरलाइंस इस मार्ग पर तीन साप्‍ताहिक उड़ानें शुरू करेगी और इसके लिए वह 50 सीटों वाले एम्ब्रियर-145 लक्‍जरी विमान चलाएगी। उड़ान योजना के तहत यह एयरलाइंस अभी तक 15 मार्गों पर अपनी उड़ानों का परिचालन करती है, कलबुर्गी-हिंडन मार्ग के जुड़ जाने से अब वह 16 मार्गों पर उड़ानें परिचालित करेगी।

नई दिल्‍ली से 30 किलोमीटर से कम की दूरी पर स्थित हिंडन हवाई अड्डा भारतीय वायुसेना के नियंत्रण में है और इसकी जमीन पर एक नया गैर-सैनिक क्षेत्र बनाने के लिए इसे भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को सौंपा गया था। भारतीय वायु सेना ने उड़ान योजना के तहत गैर-सैनिक उड़ानें परिचालित करने के लिए इस वायु सैनिक अड्डे के इस्‍तेमाल की अनिवार्य अनुमति प्रदान कर दी है। इसी तरह कलबुर्गी हवाई अड्डा भी कलबुर्गी शहर से 13.8 किलोमीटर की दूर पर स्थित है। देश के टियर-2 और टियर-3 शहरों के बीच वायु संपर्क स्‍थापित करने के लिए इस हवाई अड्डे को भी उड़ान योजना के तहत लाया गया है। अपनी अनूठी संस्‍कृति के लिए पहचाना जाने वाला कलबुर्गी शहर बुद्ध विहार, शरण बसवेश्‍वरा मंदिर, ख्‍वाजा बंदा नवाज की दरगाह और गुलबर्ग किला जैसे पर्यटक स्‍थलों के लिए गेटवे का काम करेगा। इस मार्ग पर देश की राजधानी नई दिल्‍ली से पहली बार सीधी उड़ानें चलने से यह संपर्क अधिक मजबूत हो जाएगा। यह मार्ग इस क्षेत्र में व्‍यापार और पर्यटन के विकास में सहायक होगा।

अभी तक यात्रियों को कलबुर्गी से हिंडन तक की अपनी यात्रा के दौरान बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता था। दोनों शहरों के बीच सीधी उड़ानें नहीं होने के कारण यात्रियों को या तो सड़क मार्ग से या रेल मार्ग से यात्रा करनी पड़ती थी जिसके कारण 1600 किलोमीटर की इस दूरी को पार करने में 25 घंटे से भी अधिक का समय लग जाता था। अब यात्री इस सीधी विमान सेवा का लाभ उठाकर इस लंबी दूरी की यात्रा को मात्र 2 घंटे 20 मिनट में पूरा कर पाएंगे। बहुत से लोगों को अपने निजी या व्‍यवसायिक कार्य से इन दो शहरों के बीच कई बार यात्रा करनी पड़ती है। बीजापुर, सोलापुर, बीदर, ओस्मानाबाद, लातूर, यादगीर,रंगा रेड्डी और मेडक के निवासियों को भी कलबुर्गी हिंडन मार्ग पर सीधी विमान सेवा शुरू हो जाने का प्रत्‍यक्ष लाभ मिलेगा।

उड़ान समय सारणी इस प्रकार है:

आरंभ अंत प्रस्‍थान आगमन उड़ान प्रकार आवृत्ति या फेरे
कलबुर्गी हिंडन (दिल्‍ली) 10:20 12:40 बिना रूके मंगल, बुध, शनि
हिंडन  (दिल्‍ली) कलबुर्गी 13:10 15:30 बिना रूके मंगल, बुध, शनि

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat