अनिवार्य प्रश्न

फिल्म शो के माध्यम से बच्चों को भगवान परशुराम के आदर्शों को अपनाने का दिया गया संदेश

अनिवार्य प्रश्न । संवाद


सुभाष चिल्ड्रन सोसायटी के तत्वावधान में मनी भगवान परशुराम की जयंती
भगवान परशुराम के आदर्शों को अपनाने की दी गई शिक्षा
दिखाई गई बच्चों को भगवान परशुराम के जीवन पर आधारित फिल्म


कानपुर। सुभाष चिल्ड्रन सोसायटी के तत्वावधान में परशुराम जयंती मनाने के कार्यक्रम का आयोजन सुभाष चिल्ड्रन होम 19 राजीव विहार नौबस्ता कानपुर नगर में किया गया। जिसमें बच्चों को फिल्म शो के माध्यम से भगवान परशुराम के आदर्शों को बताते हुए उन्हें अपनाने की शिक्षा दी गई। कार्यक्रम का आरंभ सर्वप्रथम बच्चों को भगवान परशुराम के बारे में बताया गया कि भगवान परशुराम का जन्म समय सतयुग और त्रेता युग का संधिकाल माना जाता है। धार्मिक ग्रंथों के अनुसार भगवान परशुराम श्री हरि विष्णु के छठे अवतार हैं। भगवान परशुराम का जन्म श्रीराम जी से पूर्व हुआ था । जिसके उपरांत बच्चों को भगवान परशुराम जी के जीवन पर आधारित फिल्म दिखाई गई।

कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि शेष नारायण त्रिवेदी पप्पू, महामंत्री भगवान परशुराम सर्व कल्याण सेवा समिति द्वारा बच्चों को बताया गया कि भगवान परशुराम का जन्म ग्रहों के योग में हुआ जिससे वे तेजस्वी, ओजस्वी और वर्चस्वी महापुरुष बने। वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को पुनर्वसु नक्षत्र में रात्रि के प्रथम प्रहर में उच्च ग्रहों से युक्त मिथुन राशि पर राहु के स्थित रहते माता रेणुका के गर्भ से श्री परशुराम जी का प्रादुर्भाव हुआ था। माना जाता है कि अक्षय तृतीया को भगवान परशुराम का जन्म हुआ था। भगवान परशुराम का प्राकट्य काल प्रदोष काल मे कहा जाता है।

चिल्ड्रन होम के प्रबंधक कमल कांत तिवारी द्वारा बताया गया कि भगवान परशुराम जी के प्रवचन कि आज के युवाओं को अत्यंत आवश्यकता है, क्योंकि आज के युवाओं में संयम का अभाव होने के कारण वह निरन्तर आपराधिक प्रवृत्तियों में लिप्त हो रहे हैं। भगवान परशुराम द्वारा मानव को मानव के प्रति प्रेम से रहने के संदेश देने के साथ ही मिट्टी पानी अग्नि वायु वनस्पति से लेकर जानवरों के साथ भी अहिंसक प्रवृत्ति के साथ रहने का संदेश दिया गया है। उक्त सभा में बच्चों को भगवान के चरित्र को जीवन में अपनाने की सीख दी गई। संस्था द्वारा इन बच्चों के साथ सभी राष्ट्रीय एवं धार्मिक पर्व को मनाया जाता है, ताकि यह पर्व के महत्व को समझते हुए जीवन में अनुसरण करें।
कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि शेष नारायण त्रिवेदी उर्फ पप्पू महामंत्री भगवान परशुराम सर्व कल्याण सेवा सीमित द्वारा पूर्ण रूप से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए बच्चों को सेब, केला, संतरा, अंगूर व कीवी आदि फल व खाद्य सामग्रियों का वितरण किया गया।

मुख्य अतिथि शेष नारायण त्रिवेदी उर्फ पप्पू, महामंत्री भगवान परशुराम सर्व कल्याण सेवा समिति संस्था अध्यक्ष सुभाष चिल्ड्रन ओम के प्रबंधक कमल कांत तिवारी, सुभाष चिल्ड्रन होम की आशा सचान, रुचि सचान, ज्योति शर्मा, सरोज देवी, हिमांशु, गीता, शुक्ला, पम्मी, रेलवे लाइन के समन्वयक गौरव सचान सहित सुभाष चिल्ड्रन होम के 3 दर्जन से अधिक बच्चे उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat