अनिवार्य प्रश्न
Old-Age-Help-Line

वरिष्ठजन हेल्पलाइन 7428518030 पर ले सकते हैं कोविड संक्रमण से बचाव की जानकारी : जयपुर


अनिवार्य प्रश्न । संवाद


हैल्पलाइन शेयरिंग-केयरिंग द्वारा बुजुर्गों के लिए उपयोगी ऑनलाइन सत्रों की शुरूआत आर्ट ऑफ लिविंग सत्र से
-21 जून को आयोजित प्रथम ऑनलाइन सत्र
-कोविड से बचाव के लिए विशेष जनजागरूकता अभियान (21 से 30 जून) के पहले दिन बुजुर्गों को समर्पित हैल्पलाइन ‘‘शेयरिंग- केयरिंग’’ का नवाचार
– वरिष्ठजन हेल्पलाइन नंबर 7428518030 पर ले सकते हैं अधिक जानकारी


जयपुर। जिला प्रशासन एवं जे के लक्ष्मीपत यूनिवर्सिटी द्वारा समर्थ संस्थान के सहयोग से बुजुगोर्ं के लिए संचालित हेल्पलाइन ‘‘शेयरिंग-केयरिंग’’ रविवार को बुजुर्गों के लिए ‘‘ऑनलाइन सत्र’’ सेवा की शुरूआत करने जा रही है। पहला सत्र ‘‘आर्ट ऑफ लिविंग’’ पर आधारित होगा जिसे सीनियर फैकल्टी वंदना जैन पुणे से ऑनलाइन संचालित करेंगी।

हैल्पलाइन के नोडल अधिकारी अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वितीय श्री पुरूषोत्तम शर्मा ने बताया कि 21 जून से 30 जून तक कोविड संक्रमण से बचाव के लिए वृहद स्तर पर जनजागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जिला कलक्टर डॉ.जोगाराम द्वारा अप्रेल माह में इस हैल्पलाइन को प्रारम्भ किया गया था। तभी से यह सैकड़ों बुजुर्गों की कई प्रकार से सहायता कर चुकी है। श्री जोगाराम द्वारा इस मंच को जन जागरूकता का प्रभावी माध्यम बताते हुए अभियान से जोड़ने का सुझाव दिया गया है। ऎसे में हैल्पलाइन ‘शेयरिंग-केयरिंग’’ की ओर से कोविड जनजागरूकता अभियान एवं अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर को ध्यान में रखते हुए इस सत्र का आयोजन किया जा रहा है।

श्री शर्मा ने बताया कि कोविड के लॉकडाउन के समय बुजुर्गों की सहायता के लिए प्रारम्भ की गई हैल्पलाइन अब अपने आयामों एवं कलेवर में विस्तार कर रही है।  ज्यादातर जगह लॉकडाउन भले ही उतना प्रभावी नहीं है लेकिन संक्रमण का खतरा अभी बना हुआ है। ऎसे में हमारे बुजुर्गों को भी पहले की तरह अधिक सावधानी रखनी जरूरी है। उनके शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य के लिए आर्ट ऑफ लिविंग का सत्र उपयोगी सिद्ध होगा। उन्होंने बताया कि हैल्पलाइन द्वारा साप्ताहिक रूप से विभिन्न ऑनलाइन सत्रों का आयोजन करने का निर्णय किया गया है।

अतिरिक्त जिला कलेक्टर द्वितीय श्री शर्मा ने बताया हेल्पलाइन पहले से ही मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान देते हुए yourdost संस्था के माध्यम से काउन्सलिंग सत्र आयोजित कर रही है। अब योग के इसमें जुड़ जाने से हेल्पलाइन के क्षेत्र का विस्तार हो रहा है। जल्दी ही वरिष्ठजनों से जुडी विभिन्न समस्यों पर परामर्श सत्रों का भी आयोजन किया जायेगा।

जेकेएलयूके कुलपति डॉ. रोशन लाल रैना ने बताया कि वर्तमान समय में वरिष्ठजनों को अपनी इम्यूनिटी पर सबसे ज्यादा ध्यान देना चाहिए और इसे देखते हुए योग दिवस का दिन चुना गया है। इस सत्र कि संयोजिका एवं संस्थान की फैकल्टी डॉ. उपासना सिंह ने बताया कि इस सत्र को विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर लाइव देखा जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat