अनिवार्य प्रश्न
Social media becomes a powerful medium of public awareness in the battle with Corona: Rajasthan

कोरोना से जंग में जन-जागरुकता का जोरदार माध्यम बना सोशल मीडिया : राजस्थान


अनिवार्य प्रश्न । संवाद


जयपुर| कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए राज्य सरकार के निर्देशानुसार 20 जून से शुरू हुए जागरुकता अभियान के दौरान अधिक से अधिक लोगों तक जागरुकता संदेश पहुंचाने के लिए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करते हुए जिला स्तर से लेकर ग्राम स्तर तक अनेक नवाचार किए गए। अभियान के दौरान जिला एवं उपखंड स्तर के साथ-साथ ग्राम पंचायत एवं ग्राम स्तर तक रैली, शपथ जैसे आयोजन कर आमजन को इससे जोड़ने के प्रयास किए गए।
इस वायरस की संक्रमण की प्रकृति को समझते हुए लोगों की भीड़ इकट्ठा करना भी उचित नहीं, इसे समझते हुए चूरू जिला प्रशासन ने महामारी संक्रमण के दौरान शुरू से ही फेसबुक, व्हाट्सएप्प एवं सोशल मीडिया को जन-जागरुकता का प्रमुख माध्यम बनाया और विभिन्न गतिविधियों के जरिए लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाने एवं अनावश्यक घर से नहीं निकलने के लिए जागरुक किया। स्वयं जिला कलक्टर ने निर्देशों एवं अपील से जुड़े वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किए, इसके अलावा जिले से जुड़े राजीव गांधी खेल रत्न अवार्डी देवेंद्र झाझड़िया, द्रोणाचार्य अवार्डी वीरेंद्र पूनिया सहित मंत्री, सांसद, विधायक आदि जनप्रतिप्रनिधियों के वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किए, जिन्हें हजारों लोगों ने देखा।
इसी क्रम में चूरू जिला पुलिस ने अपने फेसबुक पेज पर फिल्मस्थान एवं संप्रीति संस्थान के सहयेाग से फेसबुक लाइव सीरिज शुरू की और विभिन्न क्षेत्रों के सेलीब्रिटीज को जोड़कर लोगों को न केवल लॉक डाऊन के दौरान रचनात्मकता के लिए प्रेरित किया, अपितु कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए जरूरी ऎहतियात बरतने की सीख भी दी।
इस फेसबुक लाइव सीरिज से लाखों लोग जुड़े और स्थानीय लोगों के भरपूर जुड़ाव व सराहना के साथ-साथ यह देशभर में काफी चर्चित रहा। सभी जानी-मानी हस्तियां बिना किसी मानदेय के इस अभियान से जुड़ीं। लाखों फेसबुक यूजर्स ने इन ऑनलाइन सेशन को देखा और चूरू ही नहीं अपितु देश के विभिन्न राज्यों और दूसरे देशों जैसे  बांग्लादेश, पाकिस्तान, नेपाल, दुबई ,मॉरीशस, इराक, लंदन आदि देशों में रह रहे भारतीय भी इससे जुड़े। लॉक डाऊन के दौरान अवसाद का शिकार होने से लोगों को इस रचनात्मक विचार ने काफी हद तक बचाया।
30 मार्च से शुरू किए गए इस अभियान में 50 से अधिक आईएएस, आईपीएस, चिकित्सक, कलाकार, साहित्यकार, कवि, मोटिवेशनल स्पीकर, स्पिरिचुअल स्पीकर, बॉलीवुड अभिनेता, गायक, पॉप सिगर, रॉकस्टार और ख्यातनाम  शख्सियत लाइव आईं। दो बार के पैरालंपिक गोल्ड मेडलिस्ट एवं राजीव गांधी खेल रत्न अवार्डी देवेंद्र झाझड़िया, रंगकर्मी अतुल सत्या कौशिक, बिजनेसविमेन प्रिया प्रकाश, लेखक व स्तंभकार एन रघुरामन, आईएएस रोहित कुमार सिह, राजस्थान पुलिस महानिदेशक डॉ भूपेंद्र सिह, आईएएस कृष्णा कांत पाठक, आईपीएस जोस मोहन, आईएएस संदेश नायक, रूहानी सिस्टर्स डॉक्टर नीता पांडे नेगी और जागृति लूथरा प्रसन्ना, अंगूरी भाभी उर्फ शुभांगी अत्रे, लेखक कुमार अजय, रंगकर्मी दिनेश प्रधान, संगीतकार सुमित शर्मा, पंजाबी सिगर अशोक मस्ती, पत्रकार डॉ मीना शर्मा, कथक नृत्यांगना गार्गी मलकानी, कवि इकराम राजस्थानी, आईपीएस दिनेश एमएन, बॉलीवुड सिगर अनामिका, आईपीएस सत्यनारायण, अभिनेता शेखर सुमन, हास्य कलाकार ख्याली, गायक रविद्र उपाध्याय, लेखक निखिल सचान,  आध्यात्मिक गायक कैलाश खेर,  डॉ सुशीला कटारिया, हास्य कलाकार विकल्प मेहता, हास्य कलाकार सुदेश लहरी, सिंगर जावेद अली, खिलाड़ी पद्मश्री बजरंग लाल ताखर, सिंगर गजेंद्र वर्मा, सिगर राजा हसन, आर्टिस्ट साहिल लहरी, नृत्यांगना गुलाबो, खिलाड़ी दीपक हुड्डा, अभिनेता राघव जुयाल, लेखक स्तंभकार राम कुमार सिह, बॉलीवुड अभिनेता जितेंद्र कुमार, आरएएस रामरतन सौंकरिया के साथ-साथ चूरू जिले के सभी एडशिनल एसपी, चूरू जिले के सभी सर्किल ऑफिसर, सभी थानाधिकारियों ने चूरू पुलिस के फेसबुक पेज पर आकर जनता से संवाद किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विभिन्न वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान जिले के इस फेसबुक अभियान की सराहना की।
जागरुकता अभियान का विधिवत शुभारंभ जनसंपर्क राज्य मंत्री एवं जिला प्रभारी डॉ सुभाष गर्ग एवं प्रभारी सचिव डॉ नीरज के पवन ने 22 जून 2020 को किया। इस दौरान उन्होंने पोस्टर व स्टीकर विमोचन किया, सामाजिक संगठनों की ओर से आयोजित ‘जागरूकता बाईक रैली’ व चिकित्सा विभाग के ‘कोरोना जागरूकता प्रचार रथ’ को हरी झंडी दिखाकर विद्यार्थियों ने वॉल पेंटिंग एवं सेंड आर्ट के माध्यम से जागरुकता संदेश दिया। कोरोना योद्धाओं, 108 एम्बुलेंसकर्मियों व सामाजिक संगठनों का सम्मान किया गया तथा सामाजिक संगठनों की ओर से प्रभारी मंत्री को सेनेटाईजर, मॉस्क, पीपीई किट सौंपे गये। राज्य सरकार की ओर से भेजी गई प्रचार सामग्री निर्देशानुसार प्रत्येक ग्राम, ढाणी तक पहुंचाकर चस्पा करवाई गई। इसके अलावा विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा  भी प्रचार सामग्री प्रकाशित कर वितरण किया गया।
जागरुकता अभियान की बेहतरीन मॉनीटरिंग के लिए वाट्सएप्प ग्रुप बनाकर सभी संबंधित विभागों के जिम्मेदार अधिकारियो को जोड़ा गया है, जिनके द्वारा लगातार अभियान के संबंध में सूचना ग्रुप में डाली जा रही हैं। नरेगा कार्यों के दौरान श्रमिकों को जागरुकता शपथ दिलाई गई। चिकित्सा विभाग की ओर से एमसीएचएन डे (मातृ शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस) पर टीकाकरण के साथ गर्भवती महिलाओं व परिजनों को जागरूकता संदेश के पंपलेट का वितरण किया गया। राजकीय चिकित्सा संस्थानों पर चल रही एलईडी व एलसीडी पर कोरोना जागरूकता संदेश का प्रसारण करवाया गया। पुलिस विभाग की ओर से बाईक रैली निकाल कर कोरोना जागरूकता संदेश दिया गया। आयुर्वेद विभाग द्धारा जिले में विभिन्न स्थानों पर काढ़ा वितरण कर जागरूकता संदेश दिया जा रहा है। नगर निकाय के क्षेत्रों में कचरा संग्रह वाले ऑटो टिपर के माध्यम से कोरोना जागरूकता संदेश का प्रसारण करवाया गया। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में वॉल पेटिंग के साथ रंगोली के माध्यम से कोरोना जागरूकता अभियान का संदेश दिया गया। जिले में 28, 29 व 30 जून को तीन दिवसीय विशेष अभियान के माध्यम से पहले दिन जिलेभर में विभिन्न विभागों की ओर से रंगोली बनाई गई, दूसरे दिन 29 जून को ‘मैं सतर्क हूं’ हैशटेग के साथ सेल्फी अभियान चलाया गया। सूचना केंद्र में सेल्फी प्वाइंट का शुभारंभ किया गया। तीसरे दिन जिलेभर में कोरोना जागरुकता शपथ का आयोजन किया गया। 30 जून को ही चूरू साइकिल क्लब के माध्यम से कोरोना जागरुकता साइकिल रैली निकाली गई। कलक्ट्रेट से रवाना हुई जागरुकता रैली रेल्वे स्टेशन, लोहिया कॉलेज, धर्मस्तूप, पंखा चौराहा वापस कलक्ट्रेट पहुंच कर संपन्न हुई। इस दौरान 01 जुलाई 2020 को जिला स्तर पर सूचना केंद्र में जिला स्तरीय प्रदर्शनी का उद्घाटन जनप्रतिनिधियों,जिला कलक्टर व मीडिया एवं आमजन की उपस्थिति में किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat