काशी में चलेंगी 50 इलेक्ट्रिक बसें


अनिवार्य प्रश्न । ब्यूरो संवाद


वाराणसी। नगर क्षेत्र में कुल 50 इलेक्ट्रिक बसों का संचालन होना है। पूर्व ही यहां मिर्जामुराद में वर्कशॉप और चार्जिंग प्वाइंट बना लिया गया है। इस हेतु जमीन पहले ही चिन्हित कर ली गई है। स्थानीय नगर निगम द्वारा बताया गया है कि केन्द्र सरकार की ‘फेम इंडिया स्कीम-टू’ के तहत वाराणसी में 50 इलेक्ट्रिक बसें चलाई जाएंगी। यहां इलेक्ट्रिक बसों के संचालन के लिए केन्द्र सरकार द्वारा 45 लाख रुपये प्रति बस की दर से राज्य सरकार को अनुदान दिया जाएगा। पीपीपी मोड पर इसे संचालित करने के लिए ‘पीएमआई इलेक्ट्रो मोबिलिटी सल्यूशन’ नाम की फर्म का चयन कर लिया गया है।

वाराणसी नगर में इलेक्ट्रिक बसों के संचालन हेतु वाराणसी स्मार्ट सिटी लिमटेड और वाराणसी सिटी ट्रांसपोर्ट लिमिटेड के मध्य त्रि-पक्षीय अनुबंध 23 मई को किया गया है। जिसमें VSCL द्वारा इसके निर्माण हेतु फंडिंग की जाएगी और C&DS द्वारा बसों का निर्माण किया जाएगा । इन बसों का संचालन वाराणसी सिटी ट्रांसपोर्ट लिमिटेड करेगी।

नगर आयुक्त श्री गौरांग राठी ने बताया कि बदलते वक्त में पर्यावरण प्रदूषण और ऊर्जा के सीमित संसाधनों को देखते हुए वैकल्पिक और अक्षय ऊर्जा के स्रोतों की जरूरत है। इसीलिए सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दे रही है। इलेक्ट्रिक बसें पर्यावरण के लिए बहुत बेहतर हैं और इनकी मेंटिनेंस का खर्चा भी बहुत कम आते देखा गया है।

इलेक्ट्रिक बस आठ किलो वाट प्रति किलोमीटर के हिसाब से चलती हैं। इस तरह प्रतिकिलोमीटर दर तीन रुपए के करीब बैठती है। जबकि डीजल से चलने वाली बसों का खर्च प्रति किलोमीटर 19 रुपए आता है। इलेक्ट्रिक बसों की मैंटीनेंस भी डीजल की बसों की तुलना में सस्ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.