अनिवार्य प्रश्न
A Dirghayu hospital in Ashapur fined 25000 for spreading dirt

आशापुर के दीर्घायु अस्पताल पर गंदगी फैलाने के लिए 25000 का जुर्माना


अनिवार्य प्रश्न। ब्यूरो संवाद


वाराणसी। आपदा काल में जब कोर्ट तक बंद है स्थानीय नगर निगम नागरिकों की शिकायत आॅनलाइन भी स्वीकार कर रहा है। सोशल मीडिया पर ट्विटर व फेसबुक के साथ-साथ ईमेल के माध्यम से भी शहर के नागरिकों द्वारा अपनी समस्याओं के बारे में निरंतर बताया जा रहा है। विगत दिनों काशी के एक उज्ज्वल मिश्र द्वारा आशापुर स्थित दीर्घायु अस्पताल के बायो मेडिकल वेस्ट को सडक के किनारे फेके जाने की सूचना ट्विटर पर नगर आयुक्त को दी गई। इस पर संज्ञान लेते हुए नगर निगम वाराणसी ने दीर्घायु अस्पताल पर 25000 रुपये का जुर्माना लगा दिया है।
उल्लेखनीय है कि आशापुर स्थित दीर्घायु अस्पताल द्वारा अस्पताल जनित बायो मेडिकल वेस्ट को सडक के किनारे बेतरतीब फेके जाने की शिकायत ट्विटर के माध्यम से दी गयी थी। जिस पर 25000 रुपये के जुमाने की त्वरित कार्यवाही की गई है। प्रेस को दी दी गई जानकारी में निगम की टीम ने बायो मेडिकल वेस्ट का परीक्षण किया जिसमें शिकायतकर्ता के तथ्य सही पाए गये। टीम ने देखा की अस्पताल प्रबंधन द्वारा बायो मेडिकल वेस्ट का नियमानुसार निस्तारण नहीं किया जा रहा है। अपितु हास्पिटल के कचरे को सड़क पर ही बेतरतीब फेक दिया जाता है। इससे क्षेत्र में कभी भी भयानक महामारी फैलने का खतरा बना हुआ है।
अस्पताल प्रबंधन की गैरजिम्मेवारी को देखते हुए उक्त शिकायत पर नगर आयुक्त गौरांग राठी ने संज्ञान लिया और अस्पताल प्रबंधन पर कड़ी कार्यवाही करते हुए 25000 का जुर्माना ठोक दिया। साथ ही अस्पताल के मैनेजमेण्ट को जुर्माना की राशि को तीन दिवस में नगर निगम कोष में जमा करने हेतु निर्देशित भी किया गया है। उक्त के अतिरिक्त अस्पताल प्रबंधन को ताकीद किया गया कि वह बायो मेंडिकल वेस्ट का नियमानुसार निस्तारण सुनिश्चित करे एवं केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से बायो मेंडिकल वेस्ट निस्तारण हेतु आवश्यक प्रमाण पत्र लेकर वाराणसी नगर निगम में प्रस्तुत करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *