अनिवार्य प्रश्न
Banaras is not getting rid of plastic intake and sale even after continuous confiscation

लगातार जब्ती के बाद भी प्लास्टिक सेवन व विक्री से बाज नहीं आ रहा बनारस


अनिवार्य प्रश्न । ब्यूरो संवाद


वाराणसी। 6 जुलाई 2020 को स्थानीय नगर आयुक्त गौरांग राठी के दिए गए निर्देश और प्राप्त शिकायतों के आधार पर नगर निगम द्वारा एक बड़ी कार्यवाई की गई है। नगर निगम प्रवर्तन दल द्वारा तड़के 5ः30 बजे लहरतारा बऊलिया क्षेत्र में अहमदाबाद यू. पी. लोजीस्टिक के 2 गोदामों और सूरज ट्रांसपोर्ट के दो गोदामों पर क्रमशः छापेमारी की गई। उक्त छापेमारी में 126 बोरे (38 क्विंटल) प्रतिबंधित प्लास्टिक के थैले को जब्त कर लिया गया है।

उल्लेखनीय है कि प्रतिबंध के बावजूद प्लास्टिक विक्रय करने के एवज में चारों गोदामों को क्रमशः 25,000, 25,000, 15000, 05000 रूपए का जुर्माना भी किया गया है। उनको चेताया गया है कि दोबारा प्लास्टिक की विक्री एवं इस्तेमाल करने पर और अधिक सख्त कार्यवाई की जाएगी।

इसी अभियान में गंदगी फैलाने पर एक दुकानदार को 200 रूपए का जुर्माना करते हुए डस्टबिन के इस्तेमाल करने के लिए ताकीद किया गया। प्रवर्तन दल द्वारा 6 जुलाई 2020 को कुल 70,200 रूपए जुर्माना राशि वसूली गई है। पाठकों के लिए रुचिप्रद है कि सालों से पालीथीन के खिलाफ चल रहे अभियान के बाद भी बनारसी व्यापारी हैं की सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। आए दिन जब्ती होती है और बेशर्म व्यापारी प्लास्टिक बेचने से बाज नहीं आ रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *