अनिवार्य प्रश्न

कैसीटा कम्पनी का मैनेजर धर्मेन्द्र कुमार गबन व धोखाधड़ी में गिरफ्तार


अनिवार्य प्रश्न । ब्यूरो वाराणसी


मैनेजर धर्मेन्द्र कुमार करोड़ों लेकर चल रहा था फरार
पाण्डेयपुर से पकड़ाया, बड़ागाँव थाने का है निवासी
पाँच साल में करता था पैसा दूना करने का वादा
सबका रुपया लेकर हो गया था चम्पत


वाराणसी। 40 से 45 करोड़ रूपये धोखेबाजी व जालसाजी से गबन करने वाले गिरोह कैसीटा कम्पनी का मैनेजर वाराणसी के पाण्डेयपुर से पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है।

दिनांक 15 मई 2020 को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी व पुलिस अधीक्षक नगर द्वारा उक्त ईनामिया व वांछित जालसाज को धोखाधड़ी करने वाले अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान में थाना कैण्ट पुलिस टीम द्वारा पकड़ लिया गया। अभियुक्त मैनेजर धर्मेन्द्र कुमार कैसीटा कम्पनी के नाम पर अलग से फर्जी दस्तावेज तैयार कर लोगों को बहला फुसलाकर व एजेन्ट बनाकर सिर्फ पाँच वर्षों में पैसे को दोगुना करने का लालच देकर अब-तक 40 से 45 करोड़ रूपये का गबन कर चुका है।

पुलिस को दिये अपने बयान में अभियुक्त ने बताया कि ’हम लोगों ने अवेसम कम्पनी एवं कैसीटा कम्पनी बनाकर अवेसम इन्फ्रा प्रोजेक्ट लि0, रजिस्टर्ड आफिस, 3 फ्लोर शालीमार स्क्वायर 126, 31 बी0एन0रोड लालबाग हजरतगंज जनपद-लखनऊ के पते पर रजिस्ट्रेशन कराकर जनता का पैसा जमा कराते हैं तथा हम लोगों से रुपए सिर्फ पाँच वर्षों में दोगुना करके वापस करने की शर्त पर लेते हैं। आम जनता में से ही लोगों को एजेन्ट बनाकर वाराणसी के क्षेत्रवार रोहनियां, बछाव, मण्डुवाडीह, ऐढे व विभिन्न जगहों से 40 से 45 करोड़ रुपये हमनें गबन कर लिये हैं।’ अभियुक्त ने कहा कि ‘मेरे कुछ साथी इसी मुकदमें में जेल जा चुके हैं। हम लोग अधिक पैसा कमाने के चक्कर में एक टीम बनाकर यह कार्य कर रहे हैं। हम लगभग 2012 से यह काम कर रहे हैं।’

‘पाँच वर्ष की अवधि पूर्ण हो गयी तो कुछ लोग हम लोगों से पैसा मांगना शुरू कर दिये, फिर हम लोगों ने उनको टरकाना शुरू कर दिया, इसी बीच हम लोगों में कई के खिलाफ थाना कैण्ट पर अभियोग पंजीकृत हो गया। बहुत से हमारेे साथी जेल जा चुके हंै। इसी डर से मैं फरार था।’

लोगों को बताना है कि यह मामला पहला नहीं है वाराणसी में ही एक बड़ी कंपनी शाइन सिटी भी लाखों लोगों का करोड़ों रुपए लेकर लोगों को नहीं लौटा रही है। उसका मालिक भी मुकदमों का सामना कर रहा है। पिछले दिनों नेपाल में उसके गिरफ्तार होने की सूचना आयाी थी पर छूट कर मजे काट कर रहा है। जमाकर्ता लोग परेशान हैं। उनका पैसा बुरी तरह फंस गया है। वैसे लोगों को चमत्कारिक रुप से फायदा देने वाली कंपनियों से बचना चाहिए।

गिरफ्तार अभियुक्त का विवरण-
धर्मेन्द्र कुमार पुत्र होरीलाल, ग्राम महदेपुर, थाना बड़ागाँव, जनपद-वाराणसी, उम्र-37 वर्ष।
पंजीकृत अभियोग-
ऽ मु0अ0सं0 342/2020 धारा- 420,406,419,467,468,471,120बी, 34,201,504,506 भा0द0वि0 व 3(2) 5 एससी/एसटी एक्ट।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat