अनिवार्य प्रश्न
Immoral work done in Banaras hotels and guest houses, big action will be taken

बनारस के होटल और अतिथिगृहों में किया जाता है अनैतिक कार्य, होगी बड़ी कार्रवाई


अनिवार्य प्रश्न । ब्यूरो संवाद


वाराणसी। बनारस धार्मिक पर्यटन के लिए विश्व भर में मशहूर है। इसीलिए यहां होटल और अतिथिगृह भी खूब हैं और उनका व्यापार भी अच्छा चलता है। इनमें कई लॉज और अतिथिगृह के बिना लाइसेंस के ही संचालन करने और उनमें अनैतिक कार्यों को करने की सूचना मिलती रहती है, स्थानीय प्रशासन की अचानक नीद टूटी है और उसने बड़ी करवाई का संकेत दिया है।

उप जिला अधिकारी प्रोटोकॉल की एक रिपोर्ट के बाद पर्यटन विभाग ने बिना सराय एक्ट और बिना पीजी के लाइसेंस के चल रहे 41 होटल्स और अतिथिगृह पर भौहें तान लिया है। साथ ही 9 अतिथिगृह/गेस्ट हॉउस जिसमें अब-तक अनैतिक कार्य करवाया जाता रहा है अब कार्रवाई की जाएगी।

पर्यटन अधिकारी कीर्तिमान श्रीवास्तव ने इस सम्बन्ध में एक वार्ता में बताया कि एडीएम प्रोटोकॉल ने एक रिपोर्ट हमारे विभाग में भेजी थी, जिस रिपोर्ट के अनुसार 41 होटल बिना सराय एक्ट और बिना पीजी लाइसेंस के चलाये जा रहे हैं। और 9 का पंजीयन तो है मगर उनमें अनैतिक कार्य किये जाने की सूचना मिली है।

हमारी एक टीम जब जाँच करने गयी थी तो मौके पर कई सारे होटल और अतिथिगृह बंद मिले और जो खुले थे उनमे वैध लाइसेंस नहीं मिला था। इसके अलग अनैतिक व्यापार की जो सूचना मिली थी उसे भी हमारी टीम ने चेक किया तो कुछ होटल और अतिथिगृहों ने शटर गिरा लिया। घटना के संबंध में एलआईयू की जो रिपोर्ट आई थी वो तथ्यों के आधार पर सही जान पड़ रही है।

उक्त अधिकारी ने कहा कि आगे कार्रवाई के लिए अपर नगर मजिस्ट्रेट तृतीय को आख्या प्रेषित कर दी गई है पूरे प्रकरण में सभी दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अब देखना ये है कि कार्रवाई होती है या कार्रवाई के दबाव में कुछ और होता है। चिन्ता की बात है कि इस तरह के अपराध वर्षों तक दबे क्यों रहते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat