अनिवार्य प्रश्न
earth day

पृथ्वी दिवस पर लगी चित्रकला प्रदर्शनी

अनिवार्य प्रश्न । संवाद

बच्चों ने प्रकट किया पृथ्वि के प्रति प्रेम
दर्जन भर से अधिक स्कूलों के बच्चों ने पन्नों पर उकेरा धरती को बचाने का संदेश

कानपुर। विश्व पृथ्वी दिवस से पूर्व बाल प्रतिभाओं को निखारने एवं उनमें कला के प्रति उत्सुकता बढ़ाने के उद्देश्य से बाल सेवी संस्था सुभाष चिल्डेन सोसायटी व चाइल्ड लाइन कानपुर द्वारा बच्चों की पेंटिंग की निशुल्क चित्रकला प्रदर्शनी लगाई गई।

कार्यक्रम में आई पेंटिंग में बच्चों द्वारा लाल रंग का गुब्बारा लिए संदेश दिया जा रहा था कि पृथ्वी लाल हो रही है अर्थात संकटग्रस्त है। इसे बचाए और पेंटिंग में हरी शर्ट पहन कर यह संदेश दिया जा रहा था कि पृथ्वी को लाल होने से बचाएं एवं पर्यावरण को हरा-भरा बनाए और पृथ्वी को बचाएं।

इसके लिए दर्जन भर से अधिक स्कूलों के बच्चों से चित्रकला आमंत्रित की गई थी। इस प्रदर्शनी में प्रमुख रूप से विद्यालयों में प्रैग्मा पब्लिक स्कूल यशोदा नगर कानपुर, श्याम कमल हायर सेकेंडरी स्कूल यशोदा नगर कानपुर, आदर्श बाल विद्यालय, विश्व बैंक, बर्रा रघुवंश अकैडमी, गुजैनी पूर्णा देवी गर्ल्स इंटर कॉलेज यूपी, किराना स्कूल सिटी एजुकेशन सेंटर, डॉ वीरेंद्र स्वरुप एजुकेशन सेंटर, सेंट थॉमस मॉडर्न एजुकेशन सेंटर, राजरानी ज्ञान निकेतन, मदर टेरेसा, मिशन हायर सेकेंडरी स्कूल, इंदिरा निकेतन स्कूल, भारती ज्ञानपीठ कानपुर, कन्या विद्यालय, माया देवी गर्ल्स इंटर कॉलेज व सुभाष चिल्ड्रेन एकेडमी राजीव विहार नौबस्ता कानपुर नगर आदि विद्यालयों के बच्चों ने सक्रिय सहभागिता निभाई।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रोटरी क्लब कानपुर त्रिमूर्ति के चार्टर अध्यक्ष सतीश चंद्र गुप्ता ने पृथ्वी और पर्यावरण का महत्व बताते हुए कहा यदि पृथ्वी का अस्तित्व बचाना है तो हमें पर्यावरण को सुरक्षित रखना होगा। हमें कम से कम विद्युत ऊर्जा का उपयोग करना होगा तभी पृथ्वी के आगामी संकट को टाला जा सकता है। साथ ही उन्होंने आगे बताया कि पर्यावरण में आए असंतुलन के कारण आज हम सभी को विभिन्न प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है जिसमें वायुमंडल तापमान से लेकर जल प्रदूषण तथा विभिन्न प्रकार की नई बीमारियों से जूझना पढ़ रहा है। हमारी पृथ्वी दिन पर दिन संकट में घिर रही है जिसका प्रमुख कारण पर्यावरण को नष्ट करना है। अध्यक्ष सतीश चंद्र गुप्ता ने नागरिकों से अपील की कि वे पृथ्वी को बचाकर जीवन को सुरक्षित करें।

संस्था अध्यक्ष व चाइल्डलाइन के निदेशक कमल कांत तिवारी ने मंशा जाहिर की कि हम सबको मिलकर पर्यावरण बचाने हेतु काम करना चाहिए। इसमें हमें अधिक से अधिक वृक्षारोपण करने के साथ ही अनावश्यक वस्तुओं को जलाने से बचना चाहिए। क्योंकि इससे उत्पन्न गैस हमारे वायुमंडल को प्रदूषित करती है। उन्होंने कहा कि पृथ्वी के अस्तित्व को बचाना है तो पर्यावरण को शुद्ध करना होगा। उन्होंने प्रदर्शनी पर विचार व्यक्त करते हुए कहा कि चित्रकला जैसी प्रतिभा को बच्चों में बढ़ाने से वे आपराधिक प्रवृत्ति में लिप्त नहीं होंगे और उनके अंदर एक चेतना का उदय होगा। चित्रकारीता माध्यम से हमारे शिशु अपने भावों को समाज के समक्ष प्रस्तुत कर सकेंगे। साथ ही इसकला को अपना शौक बना कर भी जीवन में इससे अनेक लाभ ले सकते हैं।

चाइल्ड लाइन कानपुर के समन्वयक प्रतीक धवन ने कहा कि एक सप्ताह तक चलने वाली इस प्रदर्शनी में लॉक डाउन के बाद सर्वश्रेष्ठ 10 पेंटिंग को संस्था व चाइल्ड लाइन कानपुर द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से बतौर मुख्य अतिथि रोटरी क्लब कानपुर त्रिमूर्ति के चार्टर अध्यक्ष सतीश चंद्र गुप्ता व संस्था अध्यक्ष व चाइल्ड लाइन के निदेशक कमल कांत तिवारी, समन्वयक प्रतीक धवन पीयूष शुक्ला, शिव कुमार, उत्तम बाजपेई, रेलवे चाइल्डलाइन के प्रदीप पाठक, उमाशंकर व दिनेश सिंह आदि गणमान्य उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat