अनिवार्य प्रश्न

बनारस के दो इंजीनियर्स ने बनाया आटोमेटिक हैंड सैनिटाइजर मशीन-लेग ऑपरेटेड सैनिटाइजर डिस्पेंसर


अनिवार्य प्रश्न । ब्यूरो संवाद


चीन की तरह ही बनारस में छोटे-मोटे जरूरी उत्पादन को बढ़ावा देने की शुरू किए मुहिम
खिलौने, फर्नीचर और कुछ इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट पर भी कर हैं रहे काम
जल्द आ सकता है सुखद परिणाम


वाराणसी। लाकडाउन में जिंदगी की परिभाषा पूरी तरह बदल गई है। विश्व भर में लाकडाउन की वजह से पूरे बाजार बंद हैं एवं सबके जीवन जीने के तरीके बदल गए हैं। बेरोजगारी भी इस तरह से बढ़ी है कि इस वृद्धि का अनुमान कभी किसी भी सरकार या किसी वैज्ञानिक ने नहीं किया था। ऐसे में काशी के दो इंजीनियर कई नई तकनीकों पर काम कर रहे हैं। उनका कहना है कि चीन की तर्ज पर जल्द ही हम अनेक उत्पादों का गृह उद्योग शुरू करेंगे और अपने यहां ही अनेक नागरिकों को कैरियर और भविष्य देने जा रहे हैं।

बनारस के दो इंजीनियरों ने मिलकर ऑटोमेटिक हैंड सैनिटाइजर मशीन का निर्माण किया है। जिससे प्रवेश द्वार परं आगंतुक बिना कुछ छुए मशीन के पैडल को पैर से दबाकर सेनेटाइजर प्राप्त कर अपने हाथ साफ कर सकता है। यह मशीन संस्था, दुकान, शॉपिंग सेंटर व मेगा मार्ट जैसे सभी प्रतिष्ठानों के लिए उपयोगी है। इतना ही नहीं सामान्य घरों के लिए भी यह मशीन बेहद उपयोगी है। जो लोग बाहर घूमने फिरने जाते हैं उनके लिए यह स्मह व्चमतंजमक ेमदपजप्रमत क्पेचमदेमत मशीन काफी उपयोगी है। पास पड़ोस के आने जाने वालों के लिए भी यह मशीन दरवाजे के बाहर ही उनका अपने नए तरीके से स्वागत करती है और मात्र पैर दबाने पर हैंड सैनिटाइजर का निष्कासन करती है जिससे व्यक्ति अपने हाथ को साफ कर सकता है। वैसे तो यह आटोमेटिक हैंड सैनिटाइजर मशीन अभी दो डिजाइन में उपलब्ध है पर आने वाले समय में और भी कई तरह के विकास को पाएगी।

कई ऑनलाइन कंपनियां भी इसकी बिक्री शुरू कर दी हैं। दिल्ली-मुंबई जैसे शहरों में इन दिनों इसका प्रयोग काफी बढ़ गया है लेकिन बनारस के लिए इसका निर्माण अनोखा एवं नया है। दोनों इंजिनियर्स का यह नवीन प्रयोग लोगों में सराहा और खरीदा जा रहा है। ये ऑटोमेटिक सैनिटाइजर मशीन संभव है बदली हुई जीवनशैली में काफी उपयोगी साबित हो और आम आदमी के जीवन को बेहतर बनाने और सुरक्षित करने में काम आए।

एसके व्हील्ज रिसोर्स मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड तथा धूप सोलर साॅल्यूशन नामक बनारस की दो कंपनियां अभी इसे बना रही हैं। दोनों कंपनियों के डायरेक्टर क्रमशः विशाल सिंह व सूर्यकांत दीक्षित से अनिवार्य प्रश्न संवाददाताओं ने जब बात की तो उनके सपने व्यवहारिक व भावपूर्ण थे। उन लोगों का कहना है कि भविष्य में हम लोग ऑटोमेटिक हैंड सेनीटाइजर मशीन 1 लीटर व 2 लीटर से बड़ी मात्रा के वर्जन में लाने के लिए नई तकनीकों पर काम कर रहे हैं। जिससे लोगों का जीवन और सरल हो सके। उन्होंने बातचीत में आगे बताया कि हम अपने साथ अनेक विद्यार्थियों को भी लेंगे जो कुछ नया बनाने की सोचते हों। जिस तरीके से चीन में मैन्युफैक्चरिंग का काम होता है, ठीक उसी तर्ज पर अपने भारत में और बनारस में उत्पादन प्रारंभ करेंगे। हमने खिलौने, फर्नीचर एवं इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट पर काम करना प्रारंभ कर दिया है। हो सकता है जल्द ही उसके सुखद परिणाम आपके सामने होंगे।
अनिवार्य प्रश्न समाचार समूह इनको भविष्य में और अधिक सफलताओं के लिए शुभकामना देता है और आशा करता है कि पनपी बेरोजगारी की घड़ी में ऐसे अनेक प्रयोग रोजगार सृजित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat